रांची, जासं । कोरोना की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए उपायुक्त छवि रंजन ने पदाधिकारियों को अपनी-अपनी तैयारी पूरी करने का निर्देश दिया है। रांची जिला में मिडिल स्कूल में बनाए गए टीकाकरण केंद्रों को दूसरे स्थान पर शिफ्ट किया जाएगा। उपायुक्त ने इसे लेकर संबंधित सेल के पदाधिकारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। इसे लेकर जिला स्तरीय कोविड-19 टास्क फोर्स की बैठक बुलाई गई। बैठक के दौरान उपायुक्त ने कोविड-19 अनुरूप व्यवहार को लेकर सख्ती बरतने के निर्देश दिए। उन्होंने एसडीओ रांची एवं बुंडू और सभी बीडीओ को अपने-अपने क्षेत्रों में कोरोना गाइडलाइन्स के पालन को लेकर अभियान चलाने का निर्देश दिया। सरकारी अस्पतालों में बेहतर व्यवस्था के लिए आवश्यक मैन पावर को लेकर उपायुक्त ने कार्मिक कोषांग को दिशा निर्देश दिए। अस्पतालों में डॉक्टर, नर्स, पारा मेडिकल स्टाफ आदि की प्रतिनियुक्ति को लेकर उपायुक्त ने एक सप्ताह में पूरी तैयारी करने के निर्देश दिए।

विभिन्न सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन की उपलब्धता और आपूर्ति की समीक्षा उपायुक्त द्वारा की गई। उन्होंने उप विकास आयुक्त, रांची को सरकारी अस्पतालों में ऑक्सीजन आपूर्ति की व्यवस्था का निरीक्षण करने का निर्देश दिया। होम आइसोलेशन, टेस्टिंग, डेड बॉडी डिपोजल के लिए जरूरी मैन पावर और लॉजिस्टिक्स को लेकर उपायुक्त ने बारी-बारी से समीक्षा करते हुए संबंधित कोषांग के वरीय पदाधिकारी से जानकारी मांगी और आवश्यक दिशा निर्देश दिए। आने वाले दिनों में पर्व-त्योहारों के बाद कोरोना संक्रमण में बढ़ोतरी की आशंका है। इसे देखते हुए सभी कोषांगों को और ज्यादा गंभीरता और सतर्कता से काम करने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि हमें अपने पिछले अनुभव के आधार पर और बेहतर व्यवस्था करनी है।

कोरोना की संभावित तीसरी लहर से निपटने के लिए जिला प्रशासन की तैयारी पूरी होने के बाद मॉक ड्रिल भी किया जाएगा। बैठक के दौरान उपायुक्त छवि रंजन ने कहा कि अलग-अलग दिनों में अलग-अलग सरकारी अस्पतालों में मॉक ड्रिल किया जाएगा। इस दौरान मरीज के अस्पताल में एडमिट होने से लेकर इलाज एवं अन्य व्यवस्था को जांचा परखा जाएगा, ताकि आने वाले समय में बेहतर चिकित्सा व्यवस्था जि़ला वासियों को मिल सके।

Edited By: Vikram Giri