दुलमी (रामगढ़), जासं। रामगढ़ जिले के दुलमी प्रखंड अंतर्गत दुलमी गांव में सोमवार को अपराह्न करीब तीन बजे मनरेगा कूप के निर्माण कार्य के दौरान मिट्टी धंसने से दो मजदूर की मौके पर ही मौत हो गई है, जबकि दो मजदूर घायल हो गए। गांव के खरोधर महतो के खेत में मनरेगा के अंतर्गत कुआं खुदाई के बाद ईंट से पटाई का काम हो रहा था। इसी दौरान ऊपर से मिट्टी धंस गया। इससे जामसिंग गांव निवासी मजदूर बरतु महतो व दुलमी गांव के धनेश्वर मुंडा की हादसे में मौत हो गई।

जामसिंग निवासी मजदूर नरेश महतो व जामुआबेड़ा निवासी सुनील बेदिया इस घटना में घायल हो गए। सूचना मिलते ही तत्काल दुलमी बीडीओ विजयनाथ मिश्रा वहां पहुंचे। इसके बाद दाेनों काे आनन-फानन में इलाज के लिए रामगढ़ सदर अस्पताल भेजा। दोनों मजदूर खतरे से बाहर बताए गए हैं। इधर घटना की सूचना मिलते ही जिला परिषद अध्यक्ष ब्रह्मदेव महतो, कांग्रेस नेता सुधीर मंगलेश, पूर्व पार्षद राजू महतो सहित काफी संख्या में ग्रामीण वहां पहुंचे।

बताया गया कि दुलमी निवासी खरोधर महतो के नाम से स्वीकृत मनरेगा कूप निर्माण कार्य में सोमवार को कुल नौ मजदूर पटाई का कार्य कर रहे थे। चार मजदूर कुआं के अंदर थे। जबकि पांच ऊपर पटाई के काम में ईंट आदि देने में जुटे हुए थे। बताया गया कि पिछले कई दिनों से लगातार बारिश होने के कारण खोदे गए कुएं की मिट्टी पूरी तरह से नमी थी।

इसी वजह से अचानक कुएं की मिट्टी का एक बड़ा हिस्सा धंस गया। इससे कुआं के अंदर काम कर रहे चारों मजदूर मिट्टी में दब गए। आनन-फानन में ग्रामीणों की मदद से तत्काल दो मजदूरों को किसी तरह से बाहर निकाला गया। जबकि दो मजदूर मिट्टी के एकदम नीचे बुरी तरह से दब गए थे। लोगों की काफी मशक्कत के बाद अन्य दोनों मजदूरों को भी निकाला गया। तब तक दोनों की मौत हो चुकी थी।

Edited By: Sujeet Kumar Suman