हंटरगंज (चतरा),जासं। प्रखंड में दो अलग-अलग गांवों में कुआं और तालाब में डूबने से दो की मौत हो गई। इनमें एक महिला तथा दूसरा नाबालिग बच्चा शामिल है। महिला का शव कुआं से तथा बालक का शव तालाब से बरामद किया गया है। पुलिस दोनों शवों को अपने कब्जे में कर शनिवार की सुबह पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल भेज दिया है। थाना क्षेत्र के मीरपुर गांव के एक कुआं से 55 वर्ष की एक अधेड़ महिला का शव बरामद हुआ है। मृतका की पहचान गांव के बृज भुईयां की पत्नी बुधनी देवी के रूप में हुई है। महिला तीन दिन पूर्व घर से गायब थी। स्वजन उसकी खोजबीन कर रहे थे। लेकिन कहीं अतापता नहीं चला। शुक्रवार की शाम गांव के एक कुआं में किसी महिला शव गांव के लोगों ने देखा। उन्होंने इसकी सूचना थाना को दी।

सूचना मिलते ही थाना प्रभारी दल बल के साथ मौके पर पहुंचे और शव को कुआं से बाहर निकाल कर अपने कब्जे में लिया। दूसरी घटना सोखा गांव की है। जहां गांव निवासी अली हसन का 11 वर्षीय पुत्र मोहम्मद रेहान की मौत नदी किनारे खेत से ईंट बनाने के लिए निकाले गई मिट्टी से बने गड्ढे में डूबने से हो गई। बताया जा रहा है कि जेसीबी से दो-तीन वर्ष पहले मिट्टी निकलवाया गया था। गड्ढा तालाब का आकार ले लिया है। रेहान वहां नहाने गया था। लेकिन वह जिंदा नहीं लौटा। तालाबनुमा गड्ढे में डूबने से मौत हो गई। घर वालों इसकी खबर बहुत देर बाद मिली।

खपरैल मकान गिरा, एक महिला गंभीर

पलामू जिला के हुसैनाबाद प्रखंड के देवरी कलां गांव में शनिवार तड़के पंप हाउस के समीप एक मिट्टी का मकान अचानक गिर गया। इसमें रमेश चौधरी की 35 वर्षीया पुत्री ज्योति देवी दबकर गंभीर रूप से घायल हो गई। स्वजन उसे आनन-फानन इलाज के लिए हुसैनाबाद अनुमंडलीय अस्पताल ले गए। समाचार लिखे जाने तक उसका इलाज चल रहा है। जानकारी के अनुसार कच्चा मकान गिरते ही जोर की आवाज हुई। इसके तुरंत बाद ग्रामीण जुट गए। सभी ने खपरा व मिट्टी में दबी महिला ज्योति देवी को निकाला। इसके बाद अस्पताल ले गए। बताया जाता है कि ज्योति अपने मयके आई हुई थी। इस संबंध में देवरी कला पंचायत की मुखिया सुंदरी ने बताया कि रमेश चौधरी को प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना के तहत मकान आवंटित किया गया है। मकान पूरा हो चुका है। बावजूद रमेश अब भी अपने परिवार ने साथ खपरैल मकान में रह रहा था। पूरा मकान जर्जर था।

Edited By: Kanchan Singh