रांची, [आशीष झा]। किसी भी सरकारी कर्मचारी के लिए विदेश यात्रा करने के पूर्व सरकार से अनुमति लेने की अनिवार्यता है लेकिन इसकी अनदेखी कर तेनुघाट विद्युत निगम लिमिटेड (टीवीएनएल) के प्रबंध निदेशक अरविंद कुमार सिन्हा ने अपनी अमेरिका यात्रा पूरी कर ली। इतना ही नहीं छुट्टी स्वीकृत नहीं होने के बावजूद उपार्जित अवकाश के एवज में उन्होंने इस अवधि का पूरा वेतन भी उठा लिया लेकिन नियमानुसार उनके पास इतने उपार्जित अवकाश नहीं थे। उनके छह महीने के सेवाकाल में महज 8 दिनों के उपार्जित अवकाश का प्रावधान था।

टीवीएनएल के प्रबंध निदेशक अरविंद कुमार सिन्हा जून-जुलाई माह में 22 दिनों के लिए अमेरिका दौरे पर गए। सिन्हा की नियुक्ति टीवीएनएल के प्रबंध निदेशक के पद पर राज्य सरकार ने 28 दिसंबर 2018 को तीन वर्षों के लिए राज्य सरकार की सेवा नियमावली के अधीन कार्य करने के लिए हुई थी। छुट्टी पर जाने से पूर्व सिन्हा ने 14 जून को ऊर्जा विभाग की सचिव वंदना डाडेल को पत्र लिखकर 24 जून से 7 जुलाई तक के लिए उपार्जित अवकाश स्वीकृत करने की अनुमति मांगी थी। लेकिन उन्होंने विदेश दौरे के लिए सरकार से विधिवत अनुमति लेने की प्रक्रिया की अवहेलना कर दी।

उन्होंने सूचित किया था कि निजी कार्यों से वे अमेरिका प्रवास पर रहेंगे। अवकाश के आवेदन पर स्वीकृति का इंतजार किये बगैर 23 जून को वे अमेरिका रवाना हो गए। इस बीच, ऊर्जा सचिव ने उन्हें अवकाश देने से इन्कार कर दिया। ऊर्जा विभाग के पत्र दिनांक 28.06.2019 के माध्यम से निर्देश दिया गया कि इस संबंध में अपना आवेदन टीवीएनएल बोर्ड के अध्यक्ष सह विकास आयुक्त सुखदेव सिंह के पास जमा करें। यह प्रक्रिया भी नहीं अपनाई गई।

टीवीएनएल के आधिकारिक रिकॉर्ड के अनुसार उन्होंने 15.07.19 को वापस योगदान दिया। इस तरह वह 22 दिनों के अवकाश पर रहे। राज्य सरकार की सेवा नियमावली के अनुसार उक्त परिस्थिति में उनका अवकाश अवैतनिक शर्त पर सक्षम प्राधिकार के द्वारा स्वीकृत किया जा सकता था। लेकिन उन्होंने इस अवधि का भी पूरा वेतन निकाल लिया। इसके पूर्व भी एमडी अरविंद कुमार सिन्हा ने 21.02.2019 से 02.03.2019 तक अवकाश में रहकर अमेरिका यात्रा की थी।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप