खूंटी, जासं। टोक्‍यो ओलिंपिक के महिला हॉकी के सेमीफाइनल में भारत के बढ़त बनाते ही निक्की के माता-पिता के साथ पुलिस-प्रशासन के अधिकारी व ग्रामीण खुशी से उछल पड़े। खूंटी जिले के मुरहू प्रखंड के छोटे से गांव हेसल में निक्की प्रधान के माता-पिता के साथ प्रखंड विकास पदाधिकारी मिथिलेश कुमार सिंह, थाना प्रभारी विक्रांत कुमार और काफी संख्या में ग्रामीण सेमीफाइनल का मैच देख रहे हैं। ओलंपियन निक्की प्रधान के गांव हेसल में प्रखंड प्रशासन की ओर से प्रोजेक्टर के माध्यम से महिला हॉकी का सेमीफाइनल मैच देखने की व्यवस्था की गई है।

सुबह से ही मुरहू प्रखंड के प्रखंड विकास पदाधिकारी मिथिलेश कुमार सिंह और थाना प्रभारी विक्रांत कुमार ने हेसल पहुंचकर मैच देखने के लिए तैयारी की थी। मैच को लेकर ग्रामीणों के उत्साह को देखते हुए बीडीओ मिथिलेश कुमार सिंह ने प्रखंड कार्यालय से प्रोजेक्टर मंगाकर ग्रामीणों को मैच दिखाने की बात कही। निक्की प्रधान का घर छोटा है। सभी लोगों के एक साथ बैठकर मैच देखने में दिक्कत होगी। इसके विकल्प के तौर पर दूसरे घर में प्रोजेक्टर लगाया गया है।

दूसरे क्वार्टर फाइनल में अर्जेंटीना टीम के गोल दागते ही उत्साहित युवा मायूस हो गए। ओलंपिक में पहली बार सेमीफाइनल खेलने वाली भारतीय महिला हॉकी टीम के लिए सभी ग्रामीणों ने कामना की है। गांव में उत्साह का माहौल है। ग्रामीणों में उत्साह क्यों ना हो, इस गांव ने राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय हॉकी खेलने वाली 13 लड़कियां देश को दी हैं। सभी लोग दिन में ही अपने सारे काम निपटा कर लोग मैच देख रहे हैं। गांव में धान रोपनी का काम चरम पर है। बुधवार को ग्रामीण अहले सुबह से ही खेत के काम में जुट गए थे।

Edited By: Sujeet Kumar Suman