रांची, जासं । रिम्स में रैगिंग व मारपीट को लेकर दोषी छात्रों पर आज कार्रवाई तय होगी। दोषियों में तीन सत्र के छात्र शामिल हैं। सीनियर व जूनियर छात्रों के बीच हुए मारपीट की घटना के बाद जांच कमेटी ने अपनी रिपोर्ट एकेडमिक डीन को सौंप दी है। जांच रिपोर्ट में आठ छात्रों पर अनुशासनात्मक कार्रवाई करने की अनुशंसा की गई है, इसमें 2019 बैच और पीजी के अलावा 2016 बैच का भी एक छात्र शामिल है। जिसने माहौल बिगाड़ने के साथ-साथ मारपीट की घटना को अंजाम दिया। रिपोर्ट को लेकर गुरुवार को रिम्स निदेशक के साथ डीन सतीश चंद्रा की बैठक नहीं हो सकी। जिस कारण कार्रवाई को लेकर कोई निर्णय नहीं लिया जा सका। उन्होंने बताया कि अब शुक्रवार को बैठक आयोजित की जाएगी, जिसके बाद चिन्हित छात्रों पर कार्रवाई को लेकर दिशा-निर्देश दिया जाएगा।

सूत्रों के अनुसार दोषियों को फिलहाल सस्पेंड कर कानूनी कार्रवाई की जा सकती है। हॉस्टल में जिस तरह से हंगामा और मारपीट हुई है उसके बाद आठ सदस्यों की जांच कमिटी गठित की गई थी। जिसने तीन बात छात्रों से बयान लिया और रिपोर्ट तैयार की। रिपोर्ट तीन दिनों में जमा किया गया है।

रिम्स पीआरओ डा डीके सिन्हा ने बताया कि रिपोर्ट जमा होने के बाद अब रिपोर्ट को लेकर पहले बैठक की जाएगी। जिस छात्र पर भी आरोप लगा है उसके बारे में सारी जानकारी ली जाएगी। इसके बाद ही निदेशक के निर्देश पर ही आगे कदम उठाया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस तरह की मारपीट से रिम्स की छवी खराब होती है, लोगों के बीच गलत संदेश जाता है और इसका असर देश के विभिन्न मेडिकल कॉलेजों में दिखता है। इसलिए यह जरूरी भी है कि ऐसे छात्रों के खिलाफ कार्रवाई हो ताकि दूसरे छात्र ऐसा करने से पहले सोचें।

Edited By: Vikram Giri