लोहरदगा, जासं । कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के फेज टू के तहत राज्य भर में आंशिक लॉकडाउन लागू हैं। इस बीच जरूरी सेवाओं की दुकानों को खोलने की छूट दी गई है, इसमें दवा दुकान, किराना दुकान, सब्जी दुकान, पेट्रोल पंप आदि को कुछ शर्तों के साथ खोलने की छूट है। अन्य सभी तरह की सेवाओं पर प्रतिबंध लगाया गया है। बावजूद लोहरदगा शहरी क्षेत्र के कुछ दुकानदार अपनी दुकानों को बाहर से ताला बंद कर अंदर से बिक्री कर रहे है। इसकी शिकायत मिलने पर नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी देवेंद्र कुमार और सदर अंचलाधिकारी परमेश कुशवाहा ने उन दुकानों पर औचक छापेमारी की।

इस छापेमारी अभियान में शहर के विभिन्न स्थानों पर कुछ दुकानदारों द्वारा बाहर से दुकान में ताला लगाकर ग्राहकों को दुकान के भीतर रखकर सरकार द्वारा प्रतिबंधित किए गए सामानों की बिक्री की जा रही थी, जो पकड़ी गई। इस पर अधिकारियों ने तत्काल कार्रवाई करते हुए तीन दुकानों को सील कर दिया गया। जबकि एक दुकान से 5000 रुपये का जुर्माना वसूली करने के साथ सील करने की कार्रवाई अपनाई गई है। जिन दुकानों को सील किया गया है उसमें थाना रोड बालिका विद्यालय के समीप स्थित स्टूडेंट्स बुक डिपो, शास्त्री चौक थाना रोड स्थित आरजी नेक्स्ट मॉल सोमवार बाजार स्थित जूता दुकान शामिल है।

नगर परिषद के ईओ देवेंद्र कुमार ने साफ तौर पर कहा है कि इन दुकानों में बाहर से ताला बंद था और दुकान के अंदर ग्राहक थे। जब दुकानदार से पूछताछ की गई तो सही बात बताने के बजाए टालमटोल किया गया। दुकान बंद होने का बहाना बनाया गया। जिसपर जांच की प्रक्रिया अपनाई गई तो दुकान के अंदर ग्राहक मिले। जिसके बाद उन दुकानों को सील करने की प्रक्रिया पूरी करते हुए दुकान मालिक को पहली गलती के कारण चेतावनी देकर छोड़ दिया गया है। उन्होंने बताया कि दो दिन पहले भी सवेरा कलेक्शन नामक प्रतिष्ठान को सील किया गया था। वहीं सोमवार को झारखंड ड्रेसेज को सील किया गया है।

बावजूद दुकानदार सामानों की बिक्री करने से परहेज नहीं कर रहे और लोग मानने को तैयार नहीं है। ऐसे में अब बस एक ही रास्ता दिखता है कि वैसे दुकानों को सील कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि दुकान खुलने की जैसे हीं सूचना मिली तुरंत जांच कर उन दुकानों को सील कर दिया गया उन्होंने लोहरदगा वासियो से अपील करते हुए कहा है कि अभी कोरोना संक्रमण का खतरा तेजी से बढ़ रहा है ऐसे में घरों में सुरक्षित रहें। सरकार द्वारा समय-समय पर जारी गाइड लाइन का अनुपालन करे इसमें हम सभी की भलाई है। कोरोना को हराना है तो इसके चेन को तोड़ना होगा। इसमें जनभागीदारी जरूरी है।