रांची, जासं। स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता (Banna Gupta) ने कहा है कि सदर अस्पताल में करोड़ों रुपये की दवाओं के सैंपल की चोरी की घटना में शामिल लोगों को बख्शा नहीं जाएगा। इसकी उच्चस्तरीय जांच कराई जाएगी। जिस तरह से नशीली दवाइयों का कारोबार बढ़ रहा है, उस पर सख्ती बरती जाएगी। लोगों के स्वास्थ्य के साथ कोई खिलवाड़ नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने पुलिस को की जा रही कार्रवाई में गति लाने को कहा। मालूम हो कि दो दिन पहले सदर अस्पताल परिसर स्थित ड्रग कंट्रोल के कार्यालय से रातो रात जब्त दवा के सैंपल चोर उड़ा ले गए। जबकि इसे अगले दिन जांच के लिए बाहर भेजा जाना था।

मालूम हो कि जिस नकली दवाओं से लोगों की बचाने की तैयारी चल रही थी, उसे ही सदर अस्पताल परिसर स्थित ड्रग एंड फूड कंट्रोल के कार्यालय में रखी दवा और खाद्य सामग्री के हजारों सैंपल को चोर उड़ा ले गए। साथ ही कंप्यूटर में रखे गए सैंपलों के ब्यौरा से भी छेड़छाड़ की गई और कंप्यूटर के कई हार्ड डिस्क गायब कर दिए गए हैं। यहां पर कोरोना के दौरान व उसके बाद बिक रही नकली दवाओं की सूचना मिलने के बाद जिले के आठ दवा गाेदामों को सील किया गया था, जिसमें करीब 1.5 करोड़ की दवा बंद है। इन्हीं दवाओं के सैंपल जांच के लिए रखे गए थे, जिसे लेकर लीगल कार्रवाई की जा रही थी और इसे जांच के लिए बाहर भेजा जाना था।

इसके अलावा अगल-अलग दवा दुकानों से भी दवाओं के सैंपल जमा किए गए थे। जिसे जांच के लिए देश के कसौली, गोवाहाटी, कोलकाता, चेन्नई, गाजीयाबाद, इज्जतनगर व दिल्ली भेजा जाना था। चोरी की जो घटना घटी है उसमें सबसे अधिक नुकसान दवाओं के सैंपल के साथ हुई है। जबकि इस कार्यालय में दो कमरे फूड कंट्रोल के अधीन है, जहां दरवाजा तोड़ा गया। लेकिन सैंपल से अधिक छेड़छाड़ नहीं की गई है।

Edited By: Kanchan Singh