रांची, [संजय सुमन]। कोई काम छोटा या बड़ा नहीं होता। अगर काम के प्रति लगन और हुनर हो तो हर काम नई पहचान दिला सकता है। अपनी मेहनत के दम पर कुछ ऐसी ही पहचान रांची की बेटी बेबी हासिल कर रही है। राजधानी रांची के पिस्का मोड़ के आगे एक बुलेट की सर्विसिंग सेंटर में काम करने वाली 21 वर्ष की इस लड़की को आसपास के लोग और सहकर्मी बुलेट रानी के नाम से बुलाते हैं।

आर्थिक तंगी के कारण बारहवीं के आगे की पढ़ाई करने में असमर्थ रही यह लड़की बुलेट मैकेनिक का काम करती है। इसका काम इतना अच्छा होता है कि सर्विसिंग सेंटर में दूर-दूर से लोग बुलेट बनवाने के लिए पहुंचते हैं। रिपेयरिंग सेंटर के मालिक फुरकान का कहना है बेबी का काम ग्राहकों को पसंद है।

बेबी ने इंटर तक की पढ़ाई मारवाड़ी कॉलेज से की है। दो वर्ष तक स्नातक किया। परिवार की आर्थिक स्थिति देखकर पढ़ाई छोड़ दी। काम करना शुरू किया। वह करीब सात वर्ष से बुलेट बनाने और चलाने का काम कर रही है।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस