रांची, जागरण संवाददाता। सदर अस्पताल में अब ऑक्सीजन को लेकर व्यवस्था दुरुस्त कर ली गई है। करीब तीन माह से एलएमओ (लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन) टैंक से ऑक्सीजन सप्लाई की अनुमति का इंतजार समाप्त हो गया, शनिवार को इस एलएमओ से ऑक्सीजन सप्लाई की अनुमति मिल गयी है। जल्द ही 6000 लीटर क्षमता वाले एलएमओ टैंक में मेडिकल ऑक्सीजन स्टोर करने का काम शुरू किया जायेगा।

दूर होगी ऑक्सीजन की कमी

इस टैंक के स्थापित होने से ऑक्सीजन की कमी दूर की जा सकेगी, ताकि सामान्य मरीजों के साथ-साथ कोविड मरीजों को इससे लाभ मिल सके। सिविल सर्जन डा विनोद कुमार ने बताया कि एलएमओ प्लांट को स्थापित करने में औषद्यि निदेशालय ने सहयोग किया है। सदर अस्पताल में हवा से ऑक्सीजन तैयार करने वाली दो पीएसए यूनिट (800 लीटर प्रति मिनट क्षमता) पहले ही तैयार की जा चुकी है।

हवा से ऑक्सीजन तैयार करने का लगा है प्लांट

पीएसए प्लांट का किया गया मॉक ड्रिलऑक्सीजन की किल्लत न हो, इसके लिए सदर अस्पताल में हवा से ऑक्सीजन तैयार करने वाले प्लांट लगाये गये हैं। शनिवार को रांची, ओरमांझी, बुंडू और सोनाहातू अस्पताल में लगे ऑक्सीजन प्लांट का मॉक ड्रिल किया गया। सोनाहातू और बुंडू प्लांट का मॉक ड्रिल खुद सिविल सर्जन ने किया, सभी प्लांट को ट्रायल के बाद सही पाया गया है।

Edited By: Madhukar Kumar