लोहरदगा, जागरण संवाददाता। झारखंड के एक बड़े पुलिस अफसर के रिश्तेदार के घर में चोरी की घटना हुई है। इस मामले में रांची पुलिस की टीम ने लोहरदगा में भाजपा नेता सह सर्राफा व्यवसायी के घर में छापेमारी की है। हालांकि भाजपा नेता घर में कुछ नहीं मिला है। पुलिस इस पूरे मामले में नजर बनाए हुए है। हालांकि, पुलिस किसी स्तर से इसकी पुष्टि भी नहीं कर रही है। हाईप्रोफाइल मामला होने के कारण पुलिस इस मामले में कुछ भी नहीं बोल रही है। लेकिन इलाके में यह घटना चर्चा का विषय है।

चोरी का आभूषण खरीदने का आरोप

जानकारी के अनुसार, जिस व्यवसायी के घर में छापेमारी की गई है, वह सोना-चांदी के आभूषण का कारोबार करते हैं। साथ ही वह भाजपा के नेता भी हैं। जिस घर से चोरी हुई है, वह परिवार झारखंड के एक बड़े पुलिस अफसर के रिश्तेदार हैं। कुछ दिन पहले चोरी की यह घटना हुई थी। पुलिस ने इस मामले में अपराधी को गिरफ्तार कर लिया है। जब अपराधी से पुलिस ने पूछताछ की तो उसने बताया कि वह चोरी के जेवरात को लोहरदगा में एक सर्राफा व्यवसायी और उसके एक कपड़ा व्यवसाई मित्र को बेच दिया है।

चोर की निशानदेही के बाद छापेमारी की

इस निशानदेही के बाद ही रांची पुलिस टीम बुधवार को लोहरदगा पहुंची। पुलिस की टीम अपराधी को लेकर बुधवार रात यहां पहुंची थी। पुलिस की टीम ने दीवार फांदकर सर्राफा व्यवसायी और भाजपा नेता के घर में घुसकर छापेमारी की। हालांकि, पुलिस के आने की भनक पाकर भाजपा नेता घर से गायब हो गए। कहा यह भी जा रहा है कि रांची पुलिस की ओर से भाजपा नेता को पूछताछ के लिए पहले ही रांची बुलाया गया था, परंतु वह रांची पुलिस के समक्ष हाजिर नहीं हुए।

रांची हिंसा को लेकर छापेमारी की भी चर्चा

इसके बाद रांची पुलिस की टीम लोहरदगा पहुंची। आरोपित भाजपा नेता के घर में छापेमारी की। इस मामले को लेकर विगत दिनों रांची में हुई हिंसा की घटना से कथित तौर पर भाजपा नेता द्वारा जोड़ने की कोशिश भी की गई। कहा जा रहा है कि बाजार में यह बात फैलाई गई की उसी मामले में भाजपा नेता ने अपने फेसबुक वॉल पर घटनाओं की तस्वीरें शेयर की थी। जिसके बाद पुलिस की टीम उन्हें ढूंढ रही थी। परंतु सूत्रों का कहना है कि चोरी की घटना के मामले में ही छापेमारी की गई है। यह कार्रवाई रांची हिंसा को लेकर नहीं हुई है। हालांकि जब तक पुलिस इस मामले में कुछ खुलकर नहीं बताती, स्थिति स्पष्ट नहीं होगी।

Edited By: M Ekhlaque