रांची/हजारीबाग, जेएनएन। कोयला आउटसोर्सिंग कंपनी बीआरजी के जीएम रघुराम रेड्डी एनआइए की गिरफ्त में आ गए हैं। उन्हें रांची एयरपोर्ट से अपनी गिरफ्त में लेने के बाद एनआइए की टीम हजारीबाग स्थित उनके किराए के बंगले पर लेकर लाई है। जहां देर रात तक मकान में रखे कागजात और अन्य सामानों की तलाशी ली जा रही थी।

जानकारी के मुताबिक एनआइए रघुराम रेड्डी से पूछताछ कर रही थी। एनआइए की जांच शाम के पांच बजे शुरू हुई और देर रात चलती रही। ज्ञात हो कि तीन दिन पूर्व हजारीबाग में  एनआइए की टीम जांच करने आई थी। बंद घर को देखते हुए उसे सील कर दिया था।घर को सील करने के बाद रेड्डी को आने के लिए सूचना दी थी। सूचना पर गुरुवार को आंध्र प्रदेश से रांची पहुंचे रेड्डी को एनआइए ने एएयरपोर्ट पर ही गिरफ्त में ले लिया। 

रांची पहुंचते ही उन्हें  टीम लेकर हजारीबाग आ गई । पूरे घर को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक  पूछताछ के  दौरान उनसे उग्रवादी गठजोड़ , काम, लेनदेन सहित कई मामले में सवाल किए जा रहे हैं। यहां तक कि वहां मौजूद नौकरों के मोबाइल भी जब्त कर लिए गए। किसी बाहरी को अंदर जाने और बाहर आने की अनुमति नहीं थी। ज्ञात हो कि रेड्डी हजारीबाग, रामगढ़ के अलावा कई कंपनियों के लिए कोयला निकालने का काम करते हैं। पुलिस कोयला कारोबारियों, कंपनियों और उग्रवादियों के बीच गठजोड़  की जांच कर रही है।

घर पर रखी जा रही थी नजर : एनआइए के छापेमारी के बाद से ही टीम के द्वारा घर की निगरानी की जा रही थी। सादे वेश में रांची पुलिस को टीम को इसकी जिम्मेवारी दी गई थी। हजारीबाग पुलिस को टीम ने घर पहुंचने के बाद सूचना दी। किराये का यह बंगला एक एकड़ में फैला है। तीन मुख्य दरवाजे हैं। एनआइए की टीम गुरुवार को रेड्डी को लेकर पीछे के दरवाजे से घुसी। मेन गेट को पहले सील कर रखा गया है।

एनआइए की टीम स्थानीय निवासी दीनानाथ गोप के घर पहुंची जहां, रघुराम रेड्डी ने किराए का बंगला ले रखा था। बीते दिन उनकी अनपुस्थिति में टीम ने उनके बंगले को सील कर दिया था। तब कहा गया था कि रेड्डी के लौटने के बाद एनआइए सील खोल कर घर की तलाशी लेगी। एनआइए की टीम ने रघुराम रेड्डी के आवास पर उनकी बीएमडब्ल्यू व लैंड रोवर कार को भी सील किया था।

यह भी पढें : बीजीआर के जीएम रघुराम रेड्‌डी का बंगला सील, बीएमडब्ल्यू-लैंड रोवर भी कब्‍जे में

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021