जागरण न्यूज नेटवर्क, रांची। गोवंश की हत्या और प्रतिबंधित मांस मिलने के बाद राज्य के जिलों में तनाव है। हिमाकत ऐसी कि घटनास्थल पर पहुंची पुलिस पर ही हमला किया जा रहा है। बुधवार को पाकुड़ में उपद्रवियों ने पुलिस पर बम तक फेंके। वहां के कर्फ्य जैसे हालात से पुलिस निपट भी नहीं पाई थी कि गुरुवार को रांची के बड़गाई में माहौल तनावपूर्ण हो गया। गोवंश की हत्या की सूचना पर पहुंची पुलिस को सैकड़ों ग्रामीणों का उग्र विरोध झेलना पड़ा। इस दौरान उपद्रवियों ने जमकर ईंट-पत्थर पुलिस को लक्ष्य कर चलाए। तनाव के मद्देनजर रैपिड एक्शन फोर्स (रैफ) के जवानों को तैनात कर दिया गया है। उधर, जमशेदपुर, गोड्डा और बोकारो में प्रतिबंधित मांस के साथ कुछ लोगों की धराने के बाद पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। जमशेदपुर में तो लोगों ने युवकों की धुनाई तक कर दी।

रांची में बलि देने वाले की गिरफ्तारी से भड़के लोग
बड़गाईं बस्ती में खुले मैदान में गोवंश की बलि की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन तब तक बलि दी जा चुकी थी। इस आरोप में पुलिस ने बशीर अंसारी को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तारी के विरोध में समुदाय विशेष के लोगों ने पुलिस को घेर लिया और हंगामा करने लगे। पुलिस ने मांस जब्त किया और पुलिस वाहन में बिठाकर बशीर को ले जाने लगी। इस पर उग्र लोगों ने पुलिस पर हमला कर दिया। हालांकि पुलिस वहां से निकल गई। तनाव के बाद रैफ तैनात कर दी गई। घटना के बाद मामले की गंभीरता को देखते हुए आसपास के सभी थानों के थानेदारों, भारी संख्या में जिला बल के जवानों के अलावा रैपिड एक्शन फोर्स की तैनाती कर दी गई है। एसएसपी अनीश गुप्ता ने कहा कि आरोपित बशीर अंसारी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सदर थाना में आरोपित के खिलाफ नामजद प्राथमिकी दर्ज कराई जाएगी।

पाकुड़ के महेशपुर में निषेधाज्ञा लागू
पाकुड़ के महेशपुर स्थित डांगापाड़ा गांव में बुधवार को प्रतिबंधित पशु के वध के बाद भड़की ¨हसा के बाद गुरुवार को इलाके में कफ्यू जैसे हालात थे। चप्पे-चप्पे पर जैप, जिला पुलिस बल के करीब साढ़े तीन सौ जवानों की तैनाती की गई है। पूरे इलाके में निषेधाज्ञा लागू है। शांति व्यवस्था बहाल करने के लिए पुलिस ने फ्लैग मार्च किया। संतालपरगना के आयुक्त भगवान दास, डीआइजी राजकुमार लकड़ा बुधवार की देर रात में ही महेशपुर पहुंच गए थे। अबतक दो दर्जन से अधिक उपद्रवियों को हिरासत में लिया गया है। बंगाल सीमा सील कर दी गई है। पुलिस अधीक्षक शैलेन्द्र प्रसाद वर्णवाल थाना में कैंप कर गए हैं। उपद्रवियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करने की प्रक्रिया चल रही है। बता दें कि प्रतिबंधित पशु वध की सूचना पर पुलिस डांगापाड़ा गांव गई थी। इसपर उपद्रवियों ने पुलिस की टीम पर हमला कर दिया था। पथराव व बमबाजी की थी। पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए थे। भीड़ के हमले में हिरणपुर थाना प्रभारी अवधेश कुमार ¨सह व पीसीआर वैन चालक समेत कई पुलिसकर्मी जख्मी हो गए थे।

जमशेदपुर में प्रतिबंधित मांस के साथ युवकों की धुनाई
जमशेदपुर के बागबेड़ा स्टेशन रोड में गुरुवार को प्रतिबंधित मांस के साथ पकड़े गए दो युवकों की स्थानीय लोगों ने जमकर पिटाई कर दी। सूचना के बाद पुलिस तत्काल मौके पर पहुंची और दोनों युवकों को लोगों के चंगुल से छुड़ाकर थाने ले गई। दोनों युवकों से थाने में पूछताछ की जा रही है। स्थानीय लोगों ने बताया कि दोनों युवकों ने बुर्का पहन रखा था। शक पर इंडिका कार रोककर उसकी तलाशी ली गई तो उसमें करीब डेढ़ क्विंटल प्रतिबंधित मांस मिला। दोनों युवक जावेद असलम व शाबिर अहमद हल्दीपोखर के रहने वाले हैं।

गोड्डा में प्रतिबंधित मांस मिला, दो धराए
पोड़ैयाहाट थाना क्षेत्र के डूलीडीह गांव से पुलिस ने गुरुवार को प्रतिबंधित मांस से भरा बोरा झाड़ी से बरामद किया। इस मामले में इसराइल अंसारी और इस्लाम अंसारी को हिरासत में लिया गया है। इनसे पूछताछ जारी है। प्रशासन ने मामले को नियंत्रित कर लिया है। जवानों को तैनात कर दिया गया है। बकरीद पर प्रतिबंधित पशु काटने की सूचना पर क्षेत्र में तनाव के हालात बन गए थे। पुलिस ने कड़ाई बरतते हुए हालात पर नियंत्रण कर लिया।

बोकारो में ग्रामीणों ने प्रतिबंधित मांस के साथ तस्कर को दबोचा
चंदनकियारी प्रखंड के नौडीहा गाव में प्रतिबंधित मांस के साथ एक तस्कर को ग्रामीणों ने धर दबोचा। मांस को ऑटो से पश्चिम बंगाल ले जाया जा रहा था। 

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप