रांची, जासं। विपक्षी दलों के महागठबंधन में राजद को मिली सात सीटों पर बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने दो टूक कहा कि उन्होंने सारी जानकारी राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दे दी है। इस मसले पर अंतिम फैसला वही लेेंगे। साथ ही यह भी कहा कि सिर्फ लडऩा-लड़ाना नहीं, अधिक से अधिक सीटें जीतना हमारा मकसद है। जहां तक सीटों के बंटवारे की बात है, झामुमो जैसे बड़े दलों के कैडर भी संभवत: संतुष्ट नहीं होंगे।

यह महागठबंधन का अंदरूनी मामला है और हमें गठबंधन धर्म निभाना आता है। जो भी फैसला होगा झारखंड हित में होगा। चारा घोटाला मामले में सजायाफ्ता रिम्स में इलाजरत लालू प्रसाद से शुक्रवार की शाम लगभग डेढ़ घंटे की मुलाकात के बाद वे मीडिया से मुखातिब थे। महागठबंधन दलों के संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस से उनकी अनुपस्थिति पर उठ रहे सवालों पर उन्होंने कहा कि शनिवार को उनका जन्मदिन है। जेल प्रशासन से विशेष अनुमति लेकर वे पिता से आशीर्वाद लेने पहुंचे थे।

प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन शाम में था और यहां समय की पाबंदी थी। सीटों का बंटवारा क्या राजद के जनाधार वाले क्षेत्रों के अनुरूप है, उन्होंने कहा कि गरीबों, युवाओं, किसानों की नहीं सुनने वाली और पूंजीपतियों की पैरोकारी करने वाली भाजपा को हराना हमारा मकसद है।

हम कोई मुख्यमंत्री बनने नहीं जा रहे। बात 10 और 20 सीटों पर लडऩे की नहीं है, बल्कि जितनी भी सीटें मिले उसे जीतने की है। इसके लिए सबको एकजुट होना होगा, बलिदान के लिए भी तैयार रहना होगा। तेजस्वी ने कहा कि हमारा अपना सिद्धांत है, आइडियोलाजी है। बिहार में दूसरे नंबर की पार्टी होते हुए भी उन्होंने नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाया।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप