रांची, राज्य ब्यूरो। राज्य सरकार द्वारा ज्ञानोदय योजना के तहत स्कूलों को उपलब्ध कराए गए टैब में तकनीकी खामियां सामने आ रही हैं। झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद को कई जिलों से इसकी शिकायतें पहुंची हैं। इनमें रांची, धनबाद, बोकारो एवं हजारीबाग प्रमुख हैं। कई टैब में तकनीकी त्रुटियां होने के कारण उनमें ई-विद्यावाहिनी कार्यक्रम के तहत शिक्षक उपस्थिति एप्लीकेशन काम नहीं कर रहा है।

इस समस्या को देखते हुए राज्य परियोजना निदेशक उमाशंकर सिंह ने संबंधित जिलों के जिला शिक्षा पदाधिकारियों और जिला शिक्षा अधीक्षकों को कैंप लगाकर उन त्रुटियों को दूर करने का निर्देश दिया है। 24-27 अक्टूबर को यह प्रीवेंटिव मेंटेनेंस कैंप हितैची सिस्टम्स द्वारा लगाया जाएगा जहां संबंधित स्कूलों के शिक्षक टैब लाकर उनको दुरुस्त कराने का काम करेंगे।

बता दें कि सुदूर क्षेत्रों में नेटवर्क नहीं होने से भी शिक्षकों को टैब के माध्यम से ऑनलाइन उपस्थिति बनाने में परेशानी आ रही है। इसे देखते हुए शिक्षकों को नेटवर्क की समस्या होने पर ऑफलाइन उपस्थिति की भी स्वीकृति दी गई है। 

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस