रांची, राज्य ब्यूरो। Jharkhand Terror Funding, Sudesh Kedia टेरर फंडिंग के अभियुक्त सुदेश केडिया को सुप्रीम कोर्ट से राहत मिल गई है। सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एल नागेश्वर राव व जस्टिस एस रविंद्र भट्ट की खंडपीठ ने सुदेश केडिया को जमानत की सुविधा प्रदान कर दी है। अदालत ने माना कि केडिया के पास से बरामद हुए 9.95 लाख रुपये टेरर फंडिंग के नहीं थे। इसलिए प्रार्थी को जमानत की सुविधा प्रदान की जा रही है। हालांकि इसी आधार पर पहले झारखंड हाई कोर्ट ने केडिया की जमानत को खारिज कर दिया था।

सुदेश केडिया ने झारखंड हाई कोर्ट से जमानत खारिज होने के बाद सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर जमानत की गुहार लगाई थी। इससे पहले एनआइए की विशेष अदालत ने उनकी जमानत को खारिज कर दिया था जिसके बाद उन्होंने हाई कोर्ट में याचिका दाखिल की थी। सुदेश केडिया को एनआइए ने जनवरी 2020 में गिरफ्तार किया था। तब से वे जेल में हैं।

चतरा जिले के आम्रपाली कोल परियोजना में अधिकारियों और ट्रांसपोर्टर की मिलीभगत से पैसे की वसूली की जाती थी। इसका कुछ भाग उग्रवादी संगठन टीपीसी को भी दिया जाता था। टंडवा थाना में इसको लेकर प्राथमिकी दर्ज हुई थी। बाद में एनआइए ने इस केस को टेकओवर कर लिया और जांच कर रही है। 

प्रवीण कुमार झारखंड पावर इंजीनियर सर्विस एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्वाचित

प्रवीण कुमार झारखंड पावर इंजीनियर सर्विस एसोसिएशन के अध्यक्ष निर्वाचित किए गए हैं। एसोसिएशन के चुनाव में अध्यक्ष समेत सभी पदाधिकारियों का निर्विरोध निर्वाचन किया गया। नई टीम में सुमित कुमार गुप्ता, सीताराम मार्डी उपाध्यक्ष, प्रितम निशी किड़ो महासचिव, राकेश पांडेय और सकला हेम्ब्रम सचिव और संजय बेसरा कोषाध्यक्ष चुने गए हैं। जबकि गौरव कुमार, नथन रजक, आनंद कौशिक, पंचानन सिंह, प्रवीण उरांव, अनूप कुमार प्रसाद, अमित कुमार सिंह और सुधीर कुमार कार्यकारिणी सदस्य निर्वाचित किए गए हैं। शैलेश प्रकाश को अध्यक्ष और अमित अंबर कच्छप को महासचिव द्वारा कार्यकारिणी सदस्य मनोनीत किया गया है।