आनंद मिश्र, रांची।  झारखंड में आधे से अधिक वोट शेयर पर कब्जा कर हर सीट पर कमल खिलाने की तैयारी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने की है। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने अपने रांची प्रवास के दौरान इस लक्ष्य को फतह करने के मंत्र भी दिए और इससे जुड़ी तैयारियों का जायजा भी लिया। दिन भर के व्यस्त कार्यक्रम के बाद अमित शाह ने देर शाम तक कोर कमेटी और चुनाव प्रबंधन समिति के साथ मैराथन बैठक कर लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर मंथन किया।

अमित शाह का मानना है कि 51 फीसद वोट शेयर यदि भाजपा को हासिल हो गया तो विपक्ष के महागठबंधन में एक दो गठबंधन और भी जुड़ जाएं तो भी झारखंड में लोकसभा की सभी 14 सीटें जीतने से भाजपा को कोई नहीं रोक सकता। अपनी इस स्पष्ट सोच को उन्होंने प्रदेश की शीर्ष टीम के साथ साझा भी किया और इससे जुड़ी तैयारियों पर टिप्स भी दिए। तीन घंटे से अधिक समय तक चली इस बैठक में अमित शाह ने लोकसभा चुनाव को लेकर प्रदेश भाजपा के स्तर से की गई तैयारियों पर रिपोर्ट भी तलब की। इस बाबत पिछले प्रवास के दौरान उन्होंने 19 टास्क सौंपे थे। शाह के टास्क पर प्रदेश भाजपा काफी हद तक खरी उतरी।

शाह को सौंपी गई रिपोर्ट में बताया गया कि झारखंड में अब तक 23.11 लाख सदस्यों के सत्यापन का कार्य पूरा किया जा चुका है। चार लाख से अधिक पन्ना प्रभारी तय किए गए हैं। 29,400 बूथों में से 26 हजार बूथ कमेटियों के गठन की प्रक्रिया पूरी कर ली गई। मोटर बाइक रखने वालों की सूची तो 1.76 लाख तक पहुंच गई जो कि तयशुदा टास्क से कहीं अधिक रही।

बैठक में राष्ट्रीय अध्यक्ष के अलावा राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह, सह संगठन महामंत्री सौदान सिंह, मुख्यमंत्री रघुवर दास, प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुवा, पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा, पूर्व प्रदेश अध्यक्ष रवींद्र कुमार राय, केंद्रीय राज्यमंत्री सुदर्शन भगत, जयंत सिन्हा, झारखंड सरकार के मंत्री नीलकंठ सिंह मुंडा, महामंत्री सुनील सिंह, अनंत ओझा, दीपक प्रकाश, प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदीप वर्मा, विधायक बिरंची नारायण उपस्थित थे।