खास बातें

  • पांच आरोपितों को डालसा के वकील पर भरोसा नहीं, पैरवी के लिए रखे अपने वकील
  • सभी 12 आरोपितों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये अदालत में पेश किया गया, हर रोज होगी सुनवाई 
  • 26 नवंबर को छात्रा के साथ हुई थी घटना, 29 नवंबर को सभी को जेल भेज दिया गया था

रांची, जासं। कांके के संग्रामपुर में लॉ छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म मामले में सुनवाई शुरू हो गई है। इस मामले की हर रोज सुनवाई होगी। शुक्रवार को नवनीत कुमार की अदालत में सभी 12 आरोपितों को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये पेश किया गया। आरोपित की ओर से वकील विनोद सिंह ने आरोप गठन से पूर्व अदालत से केस डायरी उपलब्ध कराने की मांग की। अदालत ने पुलिस को बचाव पक्ष को ससमय केस डायरी देने को कहा। अदालत ने आरोप गठन के लिए छह जनवरी की तिथि तय की है। पुलिस द्वारा पूर्व में ही सभी 12 आरोपितों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की जा चुकी है। 29 नवंबर 2019 को सभी आरोपितों को जेल भेज दिया गया था।

दुष्कर्म मामले के ये हैं आरोपित

कुलदीप उरांव, सुनील उरांव, संदीप तिर्की, अजय मुंडा, राजन उरांव, नवीन उरांव, बसंत कच्छप, रवि उरांव, अमन उरांव, रोहित उरांव, ऋषि उरांव व सुनील मुंडा।

डालसा द्वारा पीडि़त व आरोपितों को उपलब्ध कराया गया वकील

आरोपितों को कानूनी सहायता उपलब्ध कराने के लिए डालसा की ओर से वकील उपलब्ध कराया गया है। चर्चित बीटेक छात्रा हत्याकांड में बचाव पक्ष की पैरवी कर चुके विनोद सिंह अब कांके दुष्कर्म के आरोपितों का बचाव करेंगे। दो जनवरी को डालसा की ओर से केस की पैरवी से संबंधित आदेश जारी किए गए हैं। यही नहीं डालसा ने पीड़िता को भी महिला वकील पूनम कुमारी व एक पारा लीगल वालंटियर मुहैया कराया है। महिला वकील व वालंटियर पीड़िता को कानूनी सहायता ही नहीं मानसिक रूप से भी मजबूत बनाएंगी। 

पांच आरोपितों ने बचाव के लिए खुद रखे वकील

डालसा की ओर से सभी 12 आरोपितों के लिए वकील नियुक्त किए गए थे, लेकिन शुक्रवार को जब अदालत में सुनवाई शुरू हुई तो पांच आरोपितों ऋषि तिर्की, अमन उरांव, सुनील मुंडा, सुनील उरांव द्वारा अपने स्तर पर वकील रखने की जानकारी मिली। इनकी ओर से ईश्वर दयाल मामले की पैरवी करेंगे।

26 नवंबर को कांके संग्रामपुर में घटी थी घटना

लॉ छात्रा से सामूहिक दुष्कर्म की घटना 26 नवंबर की देर शाम घटी थी। 25 वर्षीय लॉ कॉलेज अपने मित्र के साथ रिंग रोड किनारे बैठकर बातचीत कर रही थी। इसी दौरान आस-पास के कुछ युवकों ने जबरन उसके मित्र को रोक कर छात्रा को बगल के ईंट भट्टे में ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया। 27 नवंबर को पीड़िता की ओर से कांके थाना में अज्ञात युवकों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। पुलिस ने त्वरित कार्रवाई करते हुए सभी आरोपितों को गिरफ्तार किया था।

यह भी पढ़ें-CRPF और झारखंड पुलिस में तनातनी, विधानसभा चुनाव के दौरान शुरू हुआ था विवाद

 

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस