रांची, राज्‍य ब्यूरो। Jharkhand Assembly Election 2019 विधानसभा चुनाव की आधिकारिक घोषणा के ऐन पहले भाजपा ने राज्य के विपक्षी दलों को जोरदार झटका दिया है। इस कड़ी में विपक्षी दलों के 5 विधायकों ने बुधवार को प्रदेश भाजपा कार्यालय में भाजपा का दामन थाम लिया। इन्हें सदस्यता दिलाने के लिए भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में सुबह 11 बजे समारोह का आयोजन किया गया । समारोह में मुख्यमंत्री रघुवर दास , नंद किशोर यादव, लक्ष्‍मण गिलुवा के साथ तमाम दिग्‍गज नेता मौजूद रहे।

ये विधायक हुए शामिल

भाजपा में शामिल होने वाले विधायकों में बहरागोड़ा से झामुमो के विधायक कुणाल षाडंगी, मांडू के विधायक जयप्रकाश भाई पटेल (झामुमो से निष्कासित), लोहरदगा के कांग्रेस विधायक सुखदेव भगत, बरही के कांग्रेस विधायक मनोज कुमार यादव और भवनाथपुर से नवजवान संघर्ष मोर्चा के विधायक भानु प्रताप शाही का नाम शामिल है। इन विधायकों ने भाजपा की सदस्‍ता ग्रहण कर ली है। कांग्रेस और झामुमो के ये सभी विधायक पिछले एक माह से ज्यादा वक्त से भाजपा के संपर्क में थे। अंतिम वक्त में कांग्रेस ने अपने विधायकों को रोकने की खूब मशक्कत की। लेकिन वह अपनी जमीन नहीं बचा सकी। बुधवार को सदस्यता ग्रहण समारोह को लेकर भाजपा ने काफी सतर्कता बरती।

टिकट मिलने की गारंटी पर हुए शामिल

दलबदल करने वाले विधायक इस शर्त पर भाजपा में शामिल हुए हैैं कि उन्हें मनपसंद सीट से पार्टी का टिकट मिलेगा। एकाध को तो अभी से ही मंत्री बनाने का भी भरोसा दिलाया जा रहा है। जिन विधायकों ने इसके लिए सहमति दी है, उनकी कई दौर की मुलाकात मुख्यमंत्री रघुवर दास के साथ हो चुकी है। संभावना है कि भाजपा में शामिल होने के बाद सभी विधायक दिल्ली कूच करेंगे, जहां उनकी मुलाकात राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह समेत अन्य वरीय नेताओं से कराई जाएगी।

भाजपा में भी उथलपुथल संभव

विपक्षी दलों के विधायकों के पाला बदलने के बाद भाजपा में भी उथलपुथल की संभावना है। विपक्षी दलों की उसपर नजर है। जिन स्थानों के विधायक दल बदलकर भाजपा में आएंगे वहां टिकटों की आस में लगे भाजपाई विपक्षी दलों का रुख कर सकते हैैं। मंगलवार को इसे लेकर अटकलों का खूब दौर भी चला।

भाजपा की सदस्यता लेंगे ब्यूरोक्रेट्स 

बुधवार को कई नौकरशाह भी भाजपा में शामिल होंगे। इसमें रिटायर्ड आइएएस अधिकारी सुचित्रा सिन्हा समेत भारतीय पुलिस सेवा के कई अधिकारी शुमार हैैं। सुचित्रा सिन्हा ने राज्य सरकार में विभिन्न महत्वपूर्ण पदों पर अपनी सेवाएं दी हैं। उनके अलावा पूर्व पुलिस अधिकारी डीके पांडेय और रेजी डुंगडुंग भी भाजपा में शामिल होने की दौड़ में बताए जाते हैैं। कांग्रेस के राष्ट्रीय सचिव अरूण उरांव भी कतार में हैैं। वे पंजाब कैडर के भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी रहे हैैं।

हेमंत से मिलने पहुंचे चमरा लिंडा और कुणाल षाडंगी

तीन विधायकों के पाला बदलने से झामुमो का शीर्ष नेतृत्व परेशान है। मंगलवार को बिशुनपुर के विधायक चमरा लिंडा और बहरागोड़ा के विधायक कुणाल षाडंगी ने झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन से मुलाकात की। दावा किया गया कि चमरा लिंडा पार्टी छोड़कर नहीं जाएंगे, हालांकि चमरा लिंडा ने कोई स्पष्ट जवाब नहीं दिया। अलबत्ता कुणाल षाडंगी ने बताया कि वे भाजपा में जाने का फैसला कर चुके हैैं।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप