रांची, जागरण संवाददाता। झारखंड के मांडर विधानसभा सीट से कांग्रेस की नवनिर्वाचित विधायक शिल्पी नेहा तिर्की की प्रारंभिक शिक्षा दीक्षा मांडर के सेक्रेड हर्ट स्कूल हुलहुंडू से हुई है। 12वीं की पढ़ाई रांची के संत जेवियर कालेज से हुई। इसके बाद नेहा ग्रेजुएशन करने बैंगलोर चली गईं। बैंगलोर में क्रीस्ट युनिवर्सिटी से बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन में ग्रेजुएशन किया। जबकि 2015 में मुंबई के संत जेवियर कालेज से पोस्ट ग्रेजुएशन डिप्लोमा इन मार्केटिंग कम्यूनिकेशन की डिग्री प्राप्त की। कांके रोड में द अपलिफ्ट परफोर्मेंस की प्रोपराइट हैं। जबकि उनके पति सन्नी विलफ्रेड जेम्स लकड़ा मुंबई के सनटेक कंपनी में मर्चेंट नेवी इंजीनियर हैं।

शिल्पी के ऊपर 4.95 लाख रुपये का बैंक लोन

विधायक शिल्पी नेहा तिर्की ने बैंक से 5 लाख 30 हजार रुपये का बैंक लोन लिया था। जिसे चुकता कर रही हैं। अभी उनके ऊपर करीब 4.95 लाख रुपये की देनदारी है। जबकि उनके पति सन्नी विल्फ्रेड जेम्स लकड़ा के नाम पर कोई लोन नहीं है।

जमीन न कार, फिर भी 23.84 लाख की मालकिन

विधायक शिल्पी नेहा तिर्की ने जो शपथपत्र दाखिल किया है उसके अनुसार उनके पास न तो जमीन है और न ही फ्लैट ही है। उनके नाम से कार भी नहीं है। विभिन्न कंपनियों में करीब 11 लाख रुपये का इनवेस्टमेंट है। वहीं, दो लाख 86 हजार रुपये की ज्वेलरी है। कुल मिलाकर 23 लाख 84 हजार 836 रुपये की मालकिन हैं। जबकि उनके पति के पास सात लाख रुपये की मारूति स्वीफ्ट कार है। चल-अचल संपत्ति मिला कर 4271805 रुपये के मालिक हैं।

पति-पत्नी दोनों बेदाग, अदालत में नहीं है कोई मामला

नवनिर्वाचित विधायक शिल्पी नेहा तिर्की और उनके पति जेम्स बेदाग हैं। समर्पित शपथ पत्र के अनुसार दोनों के ही ऊपर किसी प्रकार के न तो फौजदारी मुकदमा है और ना ही दीवानी मुकदमा है। किसी भी थाने में कोई पुलिस कम्प्लेन भी दर्ज नहीं है।

टीम वर्क के कारण हुई मेरी जीत : शिल्पी नेहा तिर्की

मालूम हो कि शिल्पी नेहा तिर्की पूर्व मंत्री बंधु तिर्की की पुत्री हैं। बंधु तिर्की कांग्रेस के दिग्गज नेताओं में से एक हैं। झारखंड हाईकोर्ट ने एक मामले में बंधु तिर्की को एक साल की सजा सुनाई है। इसके बाद भारत निर्वाचन आयोग ने उन्हें अयोग्य करार दे दिया था। उनकी विधानसभा सदस्यता रद कर दी गई थी। इसके बाद मांडर विधानसभा सीट पर उपचुनाव कराया गया। कांग्रेस ने बंधु तिर्की की बेटी शिल्पी नेहा तिर्की को प्रत्याशी बनाया। उनकी जीत में पिता के अथक प्रयास की भी महत्वपूर्ण भूमिका है। वैसे शिल्पी नेहा तिर्की कहती हैं कि यह जीत टीम वर्क का परिणाम है।

Edited By: M Ekhlaque