जेएनएन, रांची। मंगलवार और बुधवार को आंधी के बीच बेमौसम बारिश से रांची के आसपास के जिलों में जान-माल की क्षति हुई। वज्रपात से राज्य में सात की मौत हो गई। रांची, साहिबगंज में दो-दो और लोहरदगा, सिमडेगा, रामगढ़ में एक-एक की मौत हुई है। आंधी ने जहां घरों के छप्पर, पेड़ों, बिजली के खंभों आदि पर सितम ढाया वहीं ओलों ने फसलों को तहस-नहस कर दिया। आंधी ने विद्युत आपूर्ति को ध्वस्त कर दिया है। रांची, लोहरदगा, गुमला समेत कई जिलों में घंटों बिजली गुल रही।

50 किमी की रफ्तार से चली हवा:

रांची में दोपहर बाद विभिन्न हिस्सों में तेज बारिश के साथ ओले भी गिरे। बादल इतने घने थे कि दिन में रात जैसी स्थिति बन गई। लगभग 50 किमी की रफ्तार से आंधी चलने के कारण शहर में कई जगह सड़क किनारे पेड़ गिर गया। पेड़ बिजली के तार पर गिरे जिससे विद्युत आपूर्ति चरमरा गई। घंटों राजधानी अंधेरे में डूबी रही। देर रात तक मेंटेनेंस का काम चलता रहा। शाम साढ़े पांच बजे तक रांची में 0.3 एमएम बारिश रिकार्ड की गई।

एनएच 33 पर आवागमन हुआ बाधित:

रामगढ़ में जिला मुख्यालय समेत भुरकुंडा व चितरपुर में ज्यादा नुकसान देखने को मिला। एनएच 33 के बगल में स्थित पेड़ों की कई बड़ी-बड़ी टहनियां टूट कर गिर गईं। इससे सड़कों पर वाहनों का आवागमन प्रभावित हुआ। ग्रामीण इलाकों में जहां आम के मंजर नष्ट हो गए, वहीं प्याज व सब्जियों को काफी नुकसान हुआ है। सिमडेगा में आंधी के कारण कई क्षेत्रों में पेड़ जड़ से उखड़ गए। वहीं डालियों के टूटकर गिरने से घर, गाड़ी आदि क्षतिग्रस्त हो गए। यहां भी बिजली देर रात तक ठप रही।

साहिबगंज में वज्रपात से मरने वालों में दो सगी बहनें:

साहिबगंगज के बरहरवा प्रखंड के बसंतपुर गांव में बुधवार को वज्रपात से एक ही परिवार की दो महिलाओं की मौत हो गई। दोनों महिलाएं सगी बहन थी और एक ही परिवार में दोनों की शादी हुई थी। मृतकों में ढुल्लू रमानी की 35 वर्षीय पत्नी कलावती देवी एवं सचिन रमानी की 40 वर्षीय पत्नी पार्वती देवी शामिल हैं। रांची स्थित पिस्कानगड़ी क्षेत्र के गुटवा तलाब के पास बुधवार को शाम सात बजे मजदूरी कर लौट रहे सपारोम निवासी सुखइर तिग्गा (25) व बलदेव महली (18) की मौत वज्रपात की चपेट में आने से हो गई। इसके अलावा रामगढ़ के नावाडीह में एक युवक, सिमडेगा के तामड़ा में एक किशोर और लोहरदगा के कुडू में वज्रपात से एक महिला की मौत हो गई। सभी मृतकों में सरकार के आपदा प्रबंधन विभाग की ओर से चार-चार लाख रुपया मुआवजा के तौर पर दिया जाएगा।

अगले दो दिनों तक ऐसा ही रहेगा मौसम:

मौसम केंद्र रांची द्वारा शुक्रवार तक के लिए झारखंड के विभिन्न हिस्सों में मेघ गर्जन के साथ तेज आंधी, ओलावृष्टि व हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश होने की चेतावनी जारी की गई है। समुद्र तल से 1.5 किमी. ऊपर सब हिमालय क्षेत्र, पश्चिम बंगाल और बांगलादेश में संयुक्त रूप से तथा गंगेटिक पश्चिम बंगाल तथा आसपास के इलाके में साइक्लोनिक सर्कुलेशन का क्षेत्र बना हुआ है। इसके अलावा प्रदेश में नमी युक्त हवा प्रवेश कर रही है। जिस कारण से मौसम में परिवर्तन देखने को मिल रही है। बुधवार को रांची का अधिकतम तापमान 35.5 तथा न्यूनतम तापमान 21.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

जानें, कहां, कितनी मौतें

रांची : 2

साहिबगंज : 2

लोहरदगा : 1

सिमडेगा : 1

रामगढ़ : 1

Edited By: Sachin Mishra