रांची, राज्य ब्यूरो। पूर्व मंत्री सरयू राय ने पथ निर्माण विभाग में हुए घोटालों पर त्वरित कार्रवाई की सराहना करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास और पूर्व मुख्य सचिव राजबाला वर्मा को भी जांच के दायरे में लेने की मांग उठाई है। राय ने कहा कि नवगठित सरकार ने पथ निर्माण विभाग की अनियमितताओं एवं निविदा घोटालों पर कार्रवाई आरंभ की है।

पथ निर्माण विभाग के अभियंता प्रमुख एवं कतिपय अन्य अभियंताओं को निलंबित किया गया है तथा बड़े पैमाने पर निविदा को रद कर दिया गया है। यह कार्रवाई स्वागत योग्य है, परंतु इतना ही पर्याप्त नहीं है। इस अवधि में पथ निर्माण विभाग के प्रभारी मंत्री, तत्कालीन मुख्यमंत्री स्वयं थे तथा सचिव जो स्वयं मुख्य सचिव थीं, की भूमिका की जांच भी जरूरी है।

बकौल राय, मेरी जानकारी के अनुसार ये दोनों ही पथ निर्माण विभाग में घोटालों और अनियमितताओं की संस्कृति आरंभ करने, नियम विरुद्ध आदेश देने तथा उन आदेशों को क्रियान्वित करने के लिए अधीनस्थ अधिकारियों एवं अभियंताओं पर दबाव डालने के लिए जिम्मेदार हैं।

यह भी सूचना है कि पथ निर्माण विभाग में हुई अनियमितताओं की जांच एक जनवरी 2016 से करने का आदेश हुआ है, लेकिन यह जांच एक जनवरी 2014 से होना चाहिए क्योंकि पथ निर्माण विभाग में ऐसी अनियमितताओं का दौर उस समय से ही आरंभ हुआ था। इसके साथ ही जांच का दायरा भवन निर्माण एवं ऊर्जा विभाग तक बढ़ाया जाना चाहिए।

तत्कालीन मुख्यमंत्री को लिखा था पत्र

सरयू राय ने कहा कि पथ निर्माण विभाग की अनियमितताओं के बारे में उन्होंने तत्कालीन मुख्यमंत्री को 11 मार्च, 2018 को पत्र लिखा था। इसके पूर्व 24 अगस्त, 2017 को भी पीत पत्र के द्वारा उन्हें सूचित किया था। सचिव, पथ निर्माण विभाग को इस बारे में 28 मार्च, 2018 को सप्रमाण सूचित किया था तथा 26 जुलाई, 2018 को भी पथ निर्माण विभाग की कार्यसंस्कृति के बारे में सचिव, पथ निर्माण विभाग को पत्र भेजा था।

इसके अतिरिक्त गुवा-सलाई रोड की अनियमितताओं के बारे में तथा एनजीटी द्वारा इस बारे में तत्कालीन पथ निर्माण सचिव एवं मुख्य सचिव को कारवाई के लिए भेजे गये आदेश का भी जिक्र किया था। उनके पत्रों में अंकित बिंदुओं पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। नतीजा हुआ कि अनियमितताओं का दायरा बढ़ता गया और निविदाओं के निष्पादन में अनियमितता को सांस्थिक रूप दे दिया गया। इसकी गहन तफ्तीश विशेष जांच दल का गठन कर की जाए।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस