रांची, राज्य ब्यूरो। झारखंड विधानसभा के मानसून सत्र के दूसरे दिन मंगलवार को सदन की कार्यवाही शुुरू होते ही हंगामा होने लगा। स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी के घूस लेने के कथित वीडियो के वायरल होने को लेकर विपक्ष के नेता सदन में हंगामा करने लगे। झामुमो ने इसकी जांच की मांग की। दूसरी तरफ स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी ने कहा कि घूस लेने का आरोप प्रमाणित हुआ तो वे त्यागपत्र दे देंगे। इसी दौरान हंगामा करते हुए झामुमो के विधायक वेल में पहुंचे गए। नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने अपने ऊपर सीएनटी के विरुद्ध खरीदी गई जमीन की जांच के लिए गठित एसआइटी की रिपोर्ट सदन में रखने की मांग की। उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष पर आरोप लग रहा है। इसलिए इसकी रिपोर्ट सदन में रखी जाए।



इधर, सदन के बाहर कांग्रेस और झामुमो के विधायक अपनी विभिन्न मांगों को लेकर धरना पर बैठ गए। वे झारखंड को सूखाग्रस्त घोषित करने और राहत कार्य चलाने की मांग करने लगे। स्वास्थ्य मंत्री को हटाने की भी मांग की। प्रदर्शन के दौरान विपक्ष के नेता मॉब लिंचिग, फसल बीमा का अविलंब भुगतान, राज्य में 24 घंटे बिजली को लेकर भी रघुवर सरकार को घेर रहे थे। धरना-प्रदर्शन कर रहे नेताओं में कांग्रेस के सुखदेव भगत, जेएमएम विधायक कुणाल षाड़ंगी व बसपा विधायक कुशवाहा शिव पूजन मेहता के अलावा, मनोज यादव, हेमंत सोरेन, जगरन्नाथ महतो, फुरकान अंसारी आदि मुख्य रूप से शामिल हैं।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस