रांची, जासं। आरएसएस की अनुषांगिक संस्था सेवा भारती कोरोना वायरस के कारण जारी लाॅकडाउन के कारण परेशान लोगों की मदद 28 मार्च से लगातार कर रही है। सेवा भारती ने रांची के अपने प्रांतीय कार्यालय से जरूरतमंदों को भोजन कराने का काम शुरू किया। झारखंड के 16 जिलों में सेवा व राहत का कार्य सुचारू रूप से चलाया जा रहा है। इन केंद्रों पर प्रत्येक दिन लोगों को भोजन कराया जाता है। 4 मई तक 70000 लोगों ने इन केंद्रों से भोजन लिया। इस सेवा कार्य को लाॅकडाउन की अवधि तक चलाने का निर्णय लिया गया है।

मंगलवार को सेवा भारती के प्रांतीय कार्यालय रांची के सेवा निकेतन में प्रांत टोली की एक अनौपचारिक बैठक हुई। बैठक में लॉकडाउन के दौरान सेवा भारती, झारखंड द्वारा विभिन्न जिलों में चल रहे कार्यों की समीक्षा की गई। साथ ही जिलावार सेवा कार्यों के वृत आंकड़ों में एकत्रित किए गए।

बैठक में प्रांतीय सह सचिव ऋषि पाण्डेय ने सेवा कार्यों के बारे में बताया कि लॉकडाउन के कारण अपने समाज के अभावग्रस्त, दिहाड़ी मजदूर, प्रवासी कामगार-विद्यार्थी, वृद्ध, असहाय जैसे जरूरतमंदों के लिए सेवा व राहत कार्य सुचारू रूप से चल रहे हैं। विगत 28 मार्च से अब तक सुखा राशन- 6,715, पका भोजन पैकेट- 62,734, मास्क-2,660, सैनिटाइजर व साबुन-425, औषधि- 210, जनसंपर्क-565, पशु चारा- 682, सुरक्षा किट- 1000 सहित 29,086 परिवारों के महिला-पुरुष व बच्चे लाभान्वित हुए।

साथ ही कोरोना वायरस से सावधानी व बचाव के तौर-तरीकों से लोगों को अवगत कराया गया एवं जनसंपर्क के माध्यम से लोगों को जागृत किया गया। इस तरह से लॉकडाउन के अंतर्गत सेवा भारती द्वारा आगे भी 17 मई तक सेवा कार्य जारी रहेगा। बैठक में राष्‍ट्रीय सेवा भारती के गुरुशरण प्रसाद ने कहा कि सेवा भारती गरीब व असहाय लोगों की मदद हमेशा से करती रही है। हमलोग प्रचार व वाहवाही लेने के लिए यह काम नहीं करते हैं। जरूरतमंदों की हमेशा सेवा करते रहेंगे। बैठक में महानगर अध्यक्ष गिरीश मल्होत्रा, चंद्रकांत रायपत, पूनम आनंद, जितेंद्र कुमार मुख्य रूप से उपस्थित रहे।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस