रांची, राज्य ब्यूरो। प्रदेश युवा राजद ने लोकसभा चुनाव में मिली करारी हार का ठिकरा महागठबंधन और ईवीएम पर फोड़ा है। दावा किया है कि महागठबंधन में शामिल दलों द्वारा निचले स्तर पर तालमेल की कमी के कारण दलों का प्रदर्शन इस चुनाव में बेहतर नहीं रहा। रही-सही कसर इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन की गड़बडिय़ों ने पूरी कर दी। लिहाजा दल विधानसभा चुनाव बैलेट पेपर से कराने की मांग निर्वाचन आयोग से करेगा।

युवा राजद का शिष्टमंडल इस बाबत जल्द ही आयोग से मिलेगा। बुधवार को प्रदेश युवा राजद अध्यक्ष अभय कुमार सिंह की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस पर आम सहमति बनी। चर्चा के दौरान वक्ताओं ने कहा कि यह हार महागठबंधन के लिए एक सबक भी है। कहा कि एनडीए ने पुलवामा जैसी घटना को भुनाकर सिर्फ ब्रांडिंग के जरिए जनता को गुमराह करने की कोशिश की है।

तय हुआ कि राजद सामाजिक न्याय और धर्मनिरपेक्षता के मूलमंत्र के साथ जनता के बीच जाएगा। दल की सांगठनिक मजबूती के लिए जहां प्रदेश स्तर पर प्रशिक्षण शिविर का आयोजन होगा, वहीं पंचायतों तक का सघन दौरा किया जाएगा। प्रदेश प्रवक्ता शैलेंद्र शर्मा के अलावा संतोष यादव, धर्मेंद्र महतो, नरेश भारती, सोनू यादव, सुरेंद्र प्रसाद, अर्जुन यादव, शुभम सिन्हा आदि ने बैठक में शिरकत की।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप