राज्य ब्यूरो, रांची : केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की 12वीं कॉमन रिव्यू मिशन (सीआरएम) की टीम ने रांची के रिम्स व सदर अस्पताल में स्वास्थ्य व्यवस्था में काफी सुधार की जरूरत बताई है। खासकर वार्डो में साफ-सफाई से लेकर चिकित्सकों के समय पर आने को सुनिश्चित करने को कहा है। बोकारो तथा रांची के अस्पतालों व स्वास्थ्य केंद्रों की जायजा लेने के बाद सीआरएम की टीम ने बुधवार को राज्य के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर निरीक्षण के क्रम में पाई गई कमियों से अवगत कराया। टीम ने अस्पतालों में लेबर रूम व वार्ड में कई सुधार के सुझाव दिए हैं।

टीम ने मातृत्व व शिशु स्वास्थ्य, परिवार नियोजन व संचारी एवं गैर संचारी रोग नियंत्रण कार्यक्रमों में लक्ष्य के अनुरूप कार्य करने का सुझाव दिया। सरकारी योजनाओं का लाभ निचले स्तर तक पहुंच सके तथा स्वास्थ्य सुविधाओं से कोई वंचित न रहे इसे सुनिश्चित करने पर जोर दिया। टीम ने चिकनगुनिया व डेंगू से निपटने के लिए भारत सरकार की गाइडलाइन के अनुरूप लगातार कैंप लगाने तथा केंद्र को रिपोर्ट भेजे जाने पर भी जोर दिया।

बता दें कि टीम ने रिम्स के निरीक्षण के क्रम में लेबर रूम में पर्दा नहीं होने पर सवाल उठाया था। वहीं, सदर अस्पताल में यूरीन जांच मशीन ने मौके पर ही काम करना बंद कर दिया था। दस सदस्यीय टीम का नेतृत्व भारत सरकार के स्वास्थ्य मंत्रालय के डिप्टी कमिश्नर (फैमिली प्लानिंग) डा. तेजाराम तथा मध्य प्रदेश के निदेशक-स्वास्थ्य सेवाएं डा. जेएल मिश्रा कर रहे थे। टीम अपनी रिपोर्ट केंद्र सरकार को सौंपेगी।

बैठक में अभियान निदेशक कृपानंद झा, रांची व बोकारो के सिविल सर्जन आदि शामिल हुए।

Posted By: Jagran