जागरण संवाददाता, रांची। गणतंत्र दिवस के अवसर पर राज्यपाल रमेश बैस ने गुरुवार को मोरहाबादी मैदान और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने दुमका के पुलिस लाइन मैदान में झंडा फहराया।

अपने अभिभाषण में मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने कहा कि हमने संकल्प लिए थे कि किए गए वायदों को पूरा करेंगे। इसी कड़ी में पुरानी पेंशन योजना को एक अक्टूबर 2022 से लागू किया गया है। 1932 के खतियान के आधार पर स्थानीय नीति परिभाषित करने के साथ अजा, अजजा और पिछड़ा वर्ग के लिए प्रतिशत बढ़ाने का विधेयक पारित किया गया है।

उन्होंने कहा कि संविधान की मूल भावना के अनुरूप गरीबों, पिछड़ों, दलितों और अल्पसंख्यकों के कल्याण के लिए विशेष प्रयास किया जा रहा है। हरा राशनकार्ड, बिरसा हरित ग्राम योजना, वीर शहीद पोटो हो खेल विकास योजना, फूलोझानो आशीर्वाद अभियान, मुख्यमंत्री रोजगार सृजन योजना, सोना-सोबरन धोती-साड़ी वितरण योजना, छात्रवृत्ति योजना और सर्वजन पेंशन योजनाएं शुरू की गई है।

वहीं राज्यपाल रमेश बैस ने मोरहाबादी मैदान पहुंचने से पहले दीपाटोली स्थित झारखंड युद्ध स्मारक पहुंचे, जहां उन्होंने माल्यार्पण कर वीर शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की। उसके बाद उन्होंने मोरहाबादी मैदान में सुबह नौ बजे झंडारोहण कर झंडे को सलामी दी। उसके बाद राज्यपाल ने सशस्त्र बल संयुक्त के परेड का निरीक्षण किया।

अपने अभिभाषण में राज्यपाल ने कहा कि सरकार ने अपने गठन से लेकर अबतक जन कल्याण के अनेक कार्य किए हैं और कई नए कार्यक्रमों की शुरुआत की है। राज्य के 22 जिलों के कुल 226 प्रखंडों को सूखाग्रस्त घोषित किया गया है, जहां लगभग 30 लाख से अधिक किसानों की आजीविका प्रभावित हुई है।

उन्होंने कहा कि सरकार मुख्यमंत्री सुखाड़ राहत योजना के तहत सुखाड़ प्रभावित प्रत्येक परिवार को तत्काल राहत देने के लिए 3500 रुपये की राहत अनुदान राशि उपलब्ध करा रही है। महिलाओं के स्वावलंबन के साथ उनके सम्मान और सामाजिक अधिकारों की रक्षा करना सरकार की प्राथमिकता है। सरकार सावित्रीबाई फुले किशोरी श्रमिक समृद्धि योजना के द्वारा बालिकाओं को सक्षम और आत्मनिर्भर बना रही है। 

राज्यपाल ने आगे कहा कि राज्य के मानव संसाधन का समुचित उपयोग करने और युवाओं को हुनरमंद बनाकर रोजगार योग्य बनाने के लिए मुख्यमंत्री सारथी योजना के अंतर्गत कौशल प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है। इस योजना के तहत प्रतिवर्ष दो लाख युवाओं को निशुल्क कौशल प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। सरकार लोक कल्याणकारी दायित्वों के निर्वहन हेतु सर्वजन पेंशन योजना चला रही है। इसके अंतर्गत सभी योग्य वृद्धा, विधवा, और दिव्यांग पेंशनधारियों को पेंशन योजना से लाभांवित किया जा रहा है। इस योजना से लगभग 20 लाख लोगों को लाभ मिल रहा है।

नागरिक और सरकार ईमानदारी से काम करें तो झारखंड होगा खुशहाल

राज्यपाल ने कहा कि उन्हें पूर्ण विश्वास है कि यदि सरकार और नागरिक दोनों अपने कर्तव्यों और उत्तरदायित्वों का निर्वहन ईमानदारी से करें तो हम निश्चित ही एक सशक्त और खुशहाल झारखंड का निर्माण करने में सफल होंगे।

कार्यक्रम में विभिन्न विभागों, बोर्ड और निगमों की ओर से तैयार झांकियां भी प्रदर्शित की गई। गणतंत्र दिवस समारोह में उत्कृष्ट परेड करनेवाली टुकड़ियों और झांकियों को पुरस्कृत किया गया। इधर, प्रत्येक साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के अवसर पर राजभवन में आयोजित होनेवाला ऐट होम कार्यक्रम और सामूहिक बैंड डिस्प्ले कार्यक्रम इस बार शुक्रवार को होगा। राजभवन के अशोक वाटिका में प्रस्तावित इस कार्यक्रम में राज्यपाल, मुख्यमंत्री, मंत्री सहित कई गणमान्य लोग शामिल होंगे।

Edited By: Roma Ragini

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट