रांची, जासं। रांची पुलिस ने आम्र्स और एक्सप्लोसिव तस्करों पर नकेल कस रखी है। रांची में गतिविधि होते ही तस्कर पकड़े जा रहे हैं। इसके अलावा एसएसपी अनीश गुप्ता की मॉनिटङ्क्षरग में तकनीकी सेल की मदद से रांची एंट्री करने वाला हर शूटर भी पकड़ा गया है। इससे कई हत्याओं की साजिश टल गई है। आंकड़ों पर गौर करें तो पिछले सात माह में 84 हथियार पकड़े गए हैैं। इनमें एके 56, एके 47, डबल बैरल रायफल सहित कई घातक हथियार भी पकड़े गए हैं। 

छोटे अपराधियों के पास से लगातार छोटे और देशी हथियार पकड़े जा रहे हैं। हाल में ही गैंगस्टर सुजीत सिन्हा के पांच कुख्यात शूटरों को पुलिस ने पकड़कर जेल भेजा था। इससे तीन दिग्गज व्यवसायी व नेता की हत्या की साजिश टल गयी थी। पुलिस ने कई बड़े अपराधियों को जेल का रास्ता दिखाया है। उनपर सीसीए भी लगाया गया है। इसके अलावा रांची पुलिस ने एक माह के भीतर नौ उग्रवादियों को भी पकड़ा है। जिन्हें अलग-अलग जिलों की पुलिस ले गई, कई को रांची पुलिस ने भी जेल भेजा है। 

गैैंगेस्टर सुजीत सिन्हा के पांच शूटरों को पकड़ा  

रंगदारी नहीं देने पर व्यवसायी अविनाश झा, भाजपा नेता रमेश सिंह और बियर फैक्ट्री के एमडी योगेंद्र तिवारी को मारने रांची पहुंचे गैंगस्टर सुजीत सिन्हा गिरोह के पांच शूटरों को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। इनमें सुजीत सिन्हा गैंग के दो करीबी शूटर भी शामिल थे। 

 शूटर बुलाने पर अनिल शर्मा के शागिर्द को भेजा जेल  

रंगदारी के लिए रेलवे कर्मी समीर दास पर हमला करने और रातू के जमीन कारोबारी की हत्या के लिए चार शूटरों को बिहार से मंगवाने पर रांची सिविल कोर्ट से रांची पुलिस ने डबलू सिंह उर्फ डबलू शर्मा को गिरफ्तार किया था। हालांकि चारों शूटर भाग निकले थे। इस गिरफ्तारी में भी दो हत्याएं टल गई थी।

 पकड़ा गया था विस्फोटकों का जखीरा 

03 अगस्त 2019 को नगड़ी के बांदो टोली स्थित एक मकान से रांची पुलिस ने विस्फोटकों का जखीरा बरामद किया गया था। मामले में नाजिर अली रोड चर्च रोड निवासी अनवर खान उर्फ असफाक रिजवी और मांगु उरांव गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। इनके पास से विस्फोटकों में 37 कार्टन जिलेटिन, 25 कार्टन व सात बैग में डेटोनेटर तथा 10 बोरा यूरिया मिला था। 

 चार हजार जिलेटिन व डेटोनेटर किया था बरामद  

14 सितंबर को नगड़ी के बाद टाटीसिलवे-तुपुदाना ओपी क्षेत्र से पुलिस ने विस्फोटकों का जखीरा बरामद किया था। उसमें 4000 जिलेटिन व दो हजार डेटोनेटर शामिल था। इसके साथ महिलांग से ऑटो चालक शमशाद अंसारी को गिरफ्तार किया गया था। हालांकि सप्लायर छोटू व शाहदेव किस्पोट्टा मौके से फरार हो गया था।  

 टीपीसी उग्रवादियों के पास से पकड़ा था घातक हथियार 

टीपीसी उग्रवादियों को यूबीजीएल रायफल, एके 47, एसएलआर और 1500 गोलियां, नौ ग्रेेनड सहित अन्य विस्फोटक बरामद किया था। इन हथियारों के साथ टीपीसी का एरिया कमांडर कमलेश गंझू भी पकड़ा गया था। 

हथियार पकड़े जाने के बाद दर्ज मामले (2019)

जनवरी : 09

फरवरी : 07

मार्च   : 14

अप्रैल : 02

मई    : 03

जून   : 09

जुलाई : 08

कुल   : 52

 

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप