रांची/खूंटी, जासं। रांची के पिठोरिया निवासी राशन डीलर कार्तिक केशरी हत्याकांड में पुलिस ने खूंटी कोर्ट परिसर से एक वकील को हिरासत में लिया है। हिरासत में लिया गया वकील विशाल पांडेय है। मुख्यालय वन डीएसपी नीरज कुमार के अनुसार वकील हत्या के दौरान घटनास्थल पर हत्या के मुख्य आरोपित अंकित केशरी उर्फ बिट्टू के साथ मौजूद था। घटना से पहले ही अपना मोबाइल बंद कर रखा था। इसके बाद से आज तक फोन बंद ही रखा था। अंकित के चालक द्वारा पुलिस को दिए गए 164 के बयान में अंकित के अलावा वकील विशाल पांडेय का नाम भी लिया है। इसी के आधार पर पुलिस ने वकील को हिरासत में लिया है।

इधर, पुलिस द्वारा खूंटी व्यवहार न्यायालय परिसर से युवा अधिवक्ता विशाल पांडेय को हिरासत में लेने के बाद हंगामा मच गया है। चर्चा फैल गया है कि वकील को मारते-पीटते पुलिस उठाकर ले गई। यह घटना दोपहर लगभग चार बजे की है। कोर्ट परिसर में हुई इस घटना को ले अधिवक्ताओं में रोष व्याप्त हो गया। आनन-फानन में अधिवक्ता संघ की आपात बैठक हुई। बैठक में निर्णय लिया गया कि पुलिस के इस रवैये के खिलाफ बुधवार को सभी अधिवक्ता कोर्ट के कार्य से विरत रहेंगे। साथ ही आगे की रणनीति बनाई जाएगी।

पुलिस को अधिवक्ताओं ने रोका, थाने आकर बात करने बोली पुलिस

जानकारी के मुताबिक कर्रा क्षेत्र के युवा अधिवक्ता विशाल पांडेय शाम को करीब चार बजे अपने सिरिस्ता में बैठे हुए थे। इसी दौरान पुलिस के कुछ जवान वहां पहुंचे और विशाल पांडेय के साथ मारपीट करते हुए उसे अपने साथ ले जाने का प्रयास करने लगे। यह देखकर पास में मौजूद कविता देवी, राजेश तिवारी व करम प्रमाणिक आदि अधिवक्ता वहां पहुंच गए और पुलिस से मारपीट करने का विरोध करने लगे। पुलिस इन अधिवक्ताओं को थाने आकर बात करने की बात कहते हुए विशाल पांडेय को अपने साथ ले गई।

बाद में जब अन्य अधिवक्ता खूंटी थाना पहुंचे तो वहां मौजूद पुलिस अधिकारियों ने घटना से अनभिज्ञता जाहिर करते हुए कहा कि खूंटी पुलिस किसी को लेकर नहीं आई है। बाद में कोर्ट रजिस्ट्रार रवि प्रकाश तिवारी ने अपने स्तर से पता लगाया तो मालूम हुआ कि विशाल पांडेय को कांके पुलिस ले गई है। अधिवक्ताओं का कहना है कि ड्रेस पहनकर अपने सिरिस्ता में बैठे वकील को पुलिस कोर्ट परिसर से इस प्रकार जबरदस्ती नहीं ले जा सकती है। पुलिस ने अपनी मर्यादा का हनन किया है। उसकी इस कार्यवाही का मुंहतोड़ जवाब दिया जाएगा।

28 सितंबर को हुई थी हत्या

कार्तिक केशरी की हत्या बीते 28 सितंबर की रात कर दी गई थी। जब वे पत्नी प्रीति केशरी के साथ शॉपिंग से लौट रहे थे। उसी दौरान बाढ़ू चौक से कुछ दूर पहले कार रोककर कार्तिक पर हमला किया गया था। पुलिस की जांच में पता चला कि था इस हत्या की साजिशकर्ता पत्नी ही निकली। प्रेमी अंकित उर्फ बिट्टू के साथ मिलकर साजिश रच डाली थी। हालांकि मामले में अबतक अंकित फरार है।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस