रांची : सोमवार को रांची के उपायुक्त के रूप में राय महिमापत रे ने पदभार ग्रहण किया। रांची के निवर्तमान उपायुक्त मनोज कुमार गिरडीह के उपायुक्त नियुक्त किए गए हैं। कार्यक्रम में निवर्तमान डीसी सहित जिले के अन्य अधिकारी उपस्थिति थे। राची के नये डीसी राय महिमापत रे ने सोमवार को पदभार ग्रहण करने के बाद कहा कि सरकार की प्राथमिकता ही उनकी पहली प्राथमिकता है, जिस योजना को धरातल पर उतारना है या फिर उसे लाभुकों तक पहुंचना है, उस पर पूरी तत्परता से काम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन पहले भी अच्छा काम करता आया है, प्रयास होगा कि और बेहतर ढंग से योजनाओं का क्रियान्वयन हो।

महिमापत रे ने कहा कि वे जिले के लोगों से सीधे संवाद का प्रयास करेंगे। चाहे वो सोशल मीडिया के माध्यम से हो या फोन के माध्यम से हो अथवा प्रत्यक्ष रूप से हो। उन्होंने कहा कि किसी भी नये काम को नये सिरे से सीखना पड़ता है। राची जिले की एक अलग परिस्थिति है, जो अन्य सभी जिलों से काफी भिन्न है।

उन्होंने कहा कि कर्मचारी भी पूरी निष्ठा व ईमानदारी के साथ काम करें। यदि किसी भी कर्मचारी अथवा अधिकारी द्वारा कोई भ्रष्टाचार संबंधित संलिप्तता मिलेगी, तो तत्काल कार्रवाई की जाएगी।

समाहरणालय में ई-ऑफिस की सेवा शुरू न कर पाने का मलाल : मनोज कुमार

तीन साल तक जिले के डीसी रहे मनोज कुमार ने कहा, मैं अपने तीन साल के कार्यानुभव से संतुष्ट हूं। कई क्षेत्रों में बेहतर अच्छा काम हुआ। शत फीसद लाभुकों के बीच अनाज का वितरण रांची जिले में किया गया। छात्रवृत्ति, सामाजिक सुरक्षा कोषांग और अन्य क्षेत्रों में काम बेहतर रहा। मनोज कुमार ने कहा कि उन्हें एक मलाल रहेगा कि वे समाहरणालय में ई-ऑफिस की सेवा शुरू नहीं कर सके। सॉफ्टवेयर में तकनीकी खामियों के कारण इसे लागू करने में परेशानी हुई। उन्होंने कहा कि उनके कार्यकाल में जिले के सभी अधिकारियों व कर्मचारियों का पूरा सहयोग मिला। विधि- व्यवस्था के मद्देनजर आम जनता से भी अपेक्षा से अधिक सहयोग प्राप्त हुआ, इसके लिए सभी का आभारी हूं। मौके पर नये उपायुक्त राय महिमापत रे ने भी मौजूद अधिकारियों से काम को पारदर्शी तरीके से समय पर पूरा करने की अपील की ।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप