मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

रांची, जासं। अपर न्यायायुक्त एसके पांडेय की अदालत ने शुक्रवार को दुष्कर्म के आरोप में पिछले डेढ़ साल से जेल में बंद रातु के गुलरेज अंसारी(22) को बरी कर दिया। आरोपित पर एक लड़की ने आरोप लगाया था कि शादी का झांसा देकर एक साल तक यौन शोषण किया। इस दौरान उसने एक बेटे को भी जन्म दिया। बेटे के जन्म के बाद आरोपित शादी से मुकर गया। वह बच्चे को अपना मानने से भी इंकार करता रहा।

इसके बाद पीडि़ता की ओर से चार अगस्त 2018 को रातु थाने में कांड संख्या 140/18 दर्ज कराया था। प्राथमिकी के दूसरे दिन ही आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था। तब से आरोपित जेल में ही बंद था। रांची पुलिस नौ अगस्त 2019 को बच्चे का डीएनए जांच रिपोर्ट अदालत में पेश किया। रिपोर्ट में बच्चे के डीएनए से आरोपित का डीएनए नहीं मिला। इसी आधार पर अदालत ने गुलरेज अंसारी को बरी कर दिया।

Posted By: Alok Shahi

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप