रांची, जेएनएन। पवित्र महीना रमजान शुरू हो गया है। बुधवार को चांद दिखाई दे गया है। गुरुवार को पहला रोजा रखा जाएगा। रमजान की तैयारिया घरों में चल रही हैं। रांची के बाजार की रौनक बढ़ गई है। इफ्तार और सहरी के लिए खरीदारी बुधवार को लोगों ने इफ्तार और सहरी के लिए खरीदारी की। पिछली बार की तरह इस बार भी पहला रोजा करीब 15 घटा 11 मिनट और अंतिम रोजा 15 घटा 35 मिनट का होगा। पहले रोजे में सुबह 3:33 बजे सहरी और शाम 6:44 बजे इफ्तार किया जाएगा। आखिरी रोजे में सुबह 3:22 बजे सहरी और शाम 6:57 बजे इफ्तार होगा।

इस महीने में हर नेमत के लिए अल्लाह का शुक्र अदा किया जाता है। महीने के बाद शव्वाल की पहली तारीख को ईद-उल-फितर मनाया जाता है। इस महीने दान पुण्य के कार्यो करने को प्रधानता दी जाती है। इसलिए इस महीने को नेकियों और इबादतों का महीना कहा जाता है। फल बाजार में आई उछाल रमजान को देखते हुए मंगलवार को ही शहर के फल बाजार में गर्मी दिखी।

फलों की कीमत रातों-रात 50 से 100 रुपये तक बढ़ गई। रविवार तक जहा सेब की कीमत 100 से 150 रुपये प्रति किलो थी, वहीं मंगलवार को बढ़कर 200 से 250 रुपये प्रति किलो हो गए। फलों का रेट सेब- 200- 240 संतरा- 100 अनार- 120-160 लीची- 150 अंगूर- 140 केला- 40 नारियल- 50 मौसमी- 80-100 आम- 70-100 तरबूज 15 खजूर 360 पतीता 40 सभी रखते हैं रोजा रमजान के पवित्र महीने में बच्चों से लेकर बूढ़े तक रोजे रखते हैं। रोजेदार पूरे दिन भूखे रहकर अल्लाह की इबादत करते हैं। अगर कोई बीमार होने पर रोजे नहीं रखता है तो उसे हर दिन के हिसाब से दान देना होता है। रमजान के पवित्र महीने में शहर में सेवइयों से ज्यादा लच्छे की ज्यादा डिमाड है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस