रांची, जागरण संवाददाता। Indian Railways - प्रीमियम ट्रेनों में हाइजीनिक बेडरोल की जगह यात्रियों को खुले में सुखाए गए बेडरोल उपलब्ध कराए जा रहे हैं। हटिया स्थित लांड्री की वाशिंग मशीन रामनवमी से ही खराब है।
नतीजतन केमिकल से बेडरोल की धुलाई करने के बाद उसे निचोडऩे में परेशानी हो रही है।

बेडरोल को लांड्री के बाहर लगाई गई लकड़ी के बाड़ के ऊपर सुखाए जा रहे हैं। यही नहीं, लांड्री के अंदर भी सफाईकर्मी न तो मास्क पहनते हैं और न ही हाथ में गलव्स। आयरनर में बेडरोल को सुखाने के बाद उसे जमीन पर ही फोल्ड किया जाता है।


गरीब रथ में बेडरोल की कमी
मेकेनाइज्ड लांड्री हटिया के कर्मी ने बताया कि मशीन खराब होने के कारण निर्धारित बेडरोल के पैकेट्स समय पर तैयार नहीं हो पा रहे हैं। हटिया से खुलने वाली ट्रेनों में बेडरोल पैकेट की कमी होती है तो रांची स्थित लांड्री से उसे पूरा किया जाता है। खासकर प्रीमियम ट्रेनों में ही बेडरोल की निर्धारित संख्या पूरी की जा रही है। चूंकि गरीब रथ में बेडरोल के लिए यात्रियों से अतिरिक्त चार्ज लिए जाते हैं, इसलिए बेडरोल की निर्धारित संख्या में कटौती की जा रही है।
कंबल धुलाई की नहीं है सुविधा
लांड्री में कंबल धुलाई की सुविधा उपलब्ध ही नहीं है। यात्रियों को एक ही कंबल कई माह तक दिए जाते हैं। सफाईकर्मियों ने बताया कि कंबल की धुलाई बाहर से कराई जाती है।
ठेके पर चल रही मशीनीकृत लांड्री
हटिया व रांची स्थित मशीनीकृत लांड्री को रांची रेल मंडल ने मेसर्स ओशो गारमेंट्स फिनिशर्स एंड लॉन्डरर्स प्राइवेट लिमिटेड को ठेका पर दे रखा है। प्रतिदिन लांड्री में विभिन्न ट्रेनों से हजारों की संख्या में गंदे बेडशीट, तकिया कवर व रूमाल आते हैं। इसकी सफाई केमिकल के माध्यम से की जाती है। रेलवे की ओर से हटिया व रांची स्थित मशीनीकृत लांड्री में आधुनिक मशीन तो लगा दी गई है, लेकिन समय पर उसका मेंटनेंस नहीं किया जाता है।
कर्मियों की कमी से प्रभावित हो रही सफाई
लांड्री में सफाई कार्य के लिए दो शिफ्टों में 35-35 दैनिक सफाई कर्मी प्रतिनियुक्त किए गए हैं। हालांकि प्रतिदिन सारे सफाईकर्मी नहीं आते। सफाईकर्मियों ने बताया कि उन्हें तीन-तीन माह तक वेतन नहीं दिया जाता है। इसके कारण सफाई का काम प्रभावित होता है।
मशीन खराब होने की सूचना नहीं दी गई है। यदि मशीन खराब है तो मरम्मत कराई जाएगी। -नीरज कुमार, सीपीआरओ, रांची रेल मंडल।
हटिया से खुलने वाली ट्रेनों में बेडरोल की जरूरत (पैकेट में)
सोमवार - 5,602
मंगलवार - 3,324
बुधवार  - 2,662
गुरुवार  - 2,662
शुक्रवार  - 4,218
शनिवार - 3,762
रविवार  - 3,324
रांची से खुलने वाली ट्रेनों में बेडरोल की जरूरत
सोमवार - 3,000
मंगलवार - 3,400
बुधवार - 3,300
गुरुवार - 1,500
शुक्रवार - 3096
शनिवार - 5,400
रविवार - 1,400

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप