रांची, [प्रणय कुमार सिंह]। झारखंड एकेडमिक काउंसिल की 10वीं व 12वीं की परीक्षा रद हाेने के बाद वोकेशनल, मध्यमा व मदरसा के करीब 17,000 छात्र-छात्राओं को अपनी परीक्षा पर सरकार के रूख का इंतजार है। छात्र इसलिए भी अधिक चिंतित हैं कि जैक इंटरमीडिएट वोकेशनल की परीक्षा 10वीं व 12वीं से पहले लेने के लिए तैयार था। लेकिन कोरोना के बढ़ते प्रभाव के कारण जैक ने 16 अप्रैल 2021 को नाेटिफिकेशन जारी कर वोकेशनल की परीक्षा स्थगित कर दी थी। राज्य भर से मदरसा में करीब 12000, मध्यमा में 4000 व वोकेशनल में 900 स्टूडेंट्स को परीक्षा में शामिल होना है।

कहीं बीते वर्ष वाला हाल तो नहीं होगा

10वीं व 12वीं की परीक्षा 4 मई से होनी थी, जो रद कर दी गई है। जैक ने अपने इतिहास में पहली बार वोकेशनल की परीक्षा 10वीं व 12वीं से पहले 23 अप्रैल से ही आयोजित करने का निर्णय लिया था। इससे संंबंधित अधिसूचना जारी कर दी गई थी। हर साल वाेकेशनल की परीक्षा जून-जुलाई से पहले नहीं होती थी। ऐसे में रिजल्ट जारी करने में विलंब हो जाता था। इससे छात्रों को काॅलेज में नामांकन में बड़ी समस्या होती थी।

सीटें भर जाने से छात्र इस काॅलेज से उस काॅलेज भटकते रहते थे। इसीलिए जैक ने पहले परीक्षा आयोजित करने का निर्णय लिया था। लेकिन कोरोना के कारण वह अपनी योजना में सफल नहीं हो सका। अब छात्रों को डर सता रहा है कि इस बार भी काॅलेजों में नामांकन में बड़ी समस्या होगी। बीते वर्ष ही परीक्षा 28 अक्टूबर से शुरू हुई थी।

सीधे 11वीं से पहुंचे थे 12वीं में, कैसे बनेगा रिजल्ट

जैक की 10वीं व 12वीं की परीक्षा रद होने के बाद इसका रिजल्ट तैयार करने में कक्षा नौवीं व 11वीं के अंकों को आधार बनाया जाएगा। वर्ष 2020 में नौवीं व 11वीं की परीक्षा जैक ने ली थी। अब सवाल उठ रहे हैं कि यदि वोकेशनल, मध्यमा व मदरसा की भी परीक्षा रद करने का निर्णय होता है तो इसका रिजल्ट तैयार करना मुश्किल होगा।

कारण इन परीक्षाओं में शामिल होने वाले छात्रों की बीते वर्ष कोई परीक्षा ही नहीं हुई थी। वोकेशनल के छात्र 11वीं से सीधे 12वीं में पहुंच गए थे। जैक 11वीं में इसकी परीक्षा आयोजित नहीं करता है। वोकेशलन की परीक्षा 1000 अंकों की होती है। इसमें हिंदी व अंग्रेजी 100-100 अंकों की, तीन ट्रेड पेपर 600 अंक व अन्य दो पेपर 100-100 अंकों की होती है।

Edited By: Sujeet Kumar Suman