रामगढ़, जासं। Puja Bharti Godda, Puja Bharti Case, Puja Bharti Hazaribagh झारखंड के प्रभारी डीजीपी एमवी राव ने शनिवार को रामगढ़ में कहा कि मेडिकल कालेज छात्रा पूजा भारती पूर्वे हत्याकांड की गुत्थी 72 घंटे के अंदर सुलझा ली जाएगी। हजारीबाग व रामगढ़ जिला पुलिस की टीम की विशेष जांच अंतिम चरण में है। पूरे घटनाक्रम को पुलिस मीडिया के समक्ष रखेगी। जल्द ही लोगों को घटना की सच्चाई का पता चल जाएगा। डीजीपी शनिवार की सुबह करीब 10.30 बजे छत्तरमांडू स्थित पुलिस अधीक्षक कार्यालय रामगढ़ पहुंचे और  आइजी साकेत कुमार, डीआइजी अमोल वेणुकांत होमकर, रामगढ़ एसपी प्रभात कुमार और हजारीबाग एसपी एस कार्तिकेय के साथ समीक्षा बैठक की।

इधर रामगढ़ के एसडीपीओ प्रकाश चंद्र ने रविवार को बताया कि पुलिस की जांच जल्‍द ही नतीजे पर पहुंचेगी। प्रथमदृष्‍टया ऐसा प्रतीत होता है कि मेडिकल छात्रा का शव कहीं और से यहां लाया गया और उसे पतरातू डैम में फेंक दिया गया। हजारीबाग मेडिकल कॉलेज की छात्रा पूजा भारती का शव हाथ, पैर बंधे हालत में 12 जनवरी को पतरातू डैम में तैरता हुआ पाया गया था। पुलिस पदाधिकारी ने कहा कि हम तथ्यों का पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं।

गायब मोबाइल से खुलेगी मेडिकल कालेज छात्रा की डेथ मिस्ट्री

पतरातू डैम के उचरिंगा क्षेत्र में गोड्डा निवासी व हजारीबाग मेडिकल कालेज की छात्रा शव मिले एक सप्ताह गुजर गए लेकिन अभी तक पुलिस को इस घटना में कोई अहम सुराग नहीं मिल सकी है। वहीं छात्रा की हत्या कर शव को डैम में फेंक दिए जाने के विरोध में रामगढ़ जिले के अलावा राज्य भर में आंदोलन का दौर जारी है। दो दिन पूर्व इस कांड की समीक्षा करने रामगढ़ पहुंचे डीजीपी ने 72 घंटे में पूरे घटनाक्रम के साथ छात्रा की हत्या को गुत्थी सुलझाने का दावा किया था। डीजीपी के इस दावे के 48 घंटे बीत चुके हैं।

इधर पुलिस की एसआइटी टीम इस मामले के अनुसंधान में लगातार 24 घंटे लगी हुई है। पुलिस को अब मृतक छात्रा के गायब हुए एंड्राइड मोबाइल फोन की जोर-शोर से तलाश है। सोमवार को पतरातू थाना प्रभारी भरत पासवान, एसआइ विजय कुमार सिंह व वरुण सिंह के नेतृत्व में दर्जनों की संख्या में ग्रामीणों ने डैम के मुहाने पर खोजबीन में लगी रही।

पुलिस का कहना है कि छात्रा के गायब हुए मोबाइल से ही इस डेथ मिस्ट्री की कहानी खुल सकती है। इस गुत्थी को सुलझाने में रामगढ़ जिले के अलावा रांची व हजारीबाग पुलिस भी लगातार इस अभियान में लगी हुई है। रामगढ़ जिला पुलिस की एक टीम गोड्डा जाकर छात्रा के बारे में जानकारी ले चुकी है। वहां भी पुलिस को छात्रा के बारे में जांच के बिंदु में कोई सफलता नहीं मिली है।

मेडिकल छात्रा हत्याकांड : डीसी के फर्जी फेसबुक अकाउंट से करता था अश्लील टिप्पणी, गिरफ्तार

हजारीबाग मेडिकल कालेज छात्रा पूजा भारती पूर्वे हत्याकांड मामले में नया उद्भेदन हुआ है। हजारीबाग के खिरगांव पांडेय टोला निवासी रवि कुमार पांडेय डीसी के नाम से फर्जी फेसबुक अकाउंट बना कर छात्रा को अश्लील टिप्पणी भेजा करता था। पुलिस ने रविवार को आरोपित को गिरफ्तार कर लिया है। सदर थाना पुलिस ने फेसबुक पर शेयर किए गए पोस्ट को आधार बना कर उसे घर से गिरफ्तार किया।वह मार्खम कालेज में स्नातक पार्ट टू का छात्र है। सीजेएम कोर्ट ने उसे 14 दिनों के लिए जेल भेज दिया है।

पुलिस के अनुसार युवक हजारीबाग डीसी के नाम से कब से फेसबुक एकाउंट चला रहा था, उसने इस दौरान किस-किस को क्या मैसेज भेजा, जांच की जा रही है। बताया जाता है कि उसने डीसी हजारीबाग के नाम से फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजकर पत्रकार सहित कई अन्य पदाधिकारियों को जोड़ लिया था। पुलिस पूरे मामले में तकनीकी व साइबर सेल की मदद से पड़ताल कर रही है। आरोपित पर आइटी एक्ट सहित अन्य धाराओं में प्राथमिकी दर्ज की गई।

डीसी हजारीबाग नाम से फर्जी फेसबुक आइडी चलाने का मामला मेरे संज्ञान में आया था। जैसे ही मामला संज्ञान में आया प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की गई। मामले की जांच की जा रही है। आदित्य कुमार आनंद, उपायुक्त हजारीबाग

बैठक के बाद पत्रकारों से मुखातिब डीजीपी ने कहा कि राज्य को अपराधमुक्त बनाने के लिए पूरे झारखंड में विशेष अभियान चलाया जा रहा है। हजारीबाग व रामगढ़ जिले के क्षेत्र में भी अपराधियों पर लगाम लगाने के कई निर्देश दिए गए हैं। रामगढ़ व हजारीबाग के क्षेत्र में जितने भी सांगठनिक आपराधिक गिरोह सक्रिय हैं, उन पर लगाम लगाना जरूरी है। अवैध माइनिंग, ट्रांसपोर्टिंग, गुंडागर्दी सहित अन्य अपराध में शामिल लोगों को चिह्नित करने की कार्रवाई तेज है। 

व्यवसायियों से रंगदारी मांगने वालों को नहीं बख्शा जाएगा

डीजीपी ने कहा कि व्यवसायियों को डरा-धमकाकर रंगदारी मांगने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। व्यवसायियों को संरक्षण प्रदान करने के लिए पुलिस ने कई कदम उठाए हैं। पूरे राज्य में  अभियान चलाया जा रहा है। आने वाले दिनों में सुधार की स्थिति देखने को मिलेगी। जंगल में भी कई नक्सली संगठन अपना पांव पसारने की फिराक में हैं। उनके खिलाफ भी विशेष छापेमारी अभियान चलाया जा रहा है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप