पतरातू थर्मल (रामगढ़), जेएनएन। Puja Bharti Godda, Puja Bharti Jharkhand, Puja Bharti Hazaribagh हजारीबाग मेडिकल कालेज की छात्रा पूजा भारती की हत्या की गुत्थी पुलिस अभी तक नहीं सुलझा सकी है। घटना के 11 दिन बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं। अभी तक जांच का नतीजा शून्य ही रहा है। पुलिस सीसीटीवी फुटेज में दिख रहे एक वैन व छात्रा की गायब एंड्राइड मोबाइल फोन ढूंढने में ही हांफ रही है।

विदित हो कि 12 जनवरी की सुबह मेडिकल कालेज की छात्रा का हाथ-पैर बंधा शव पतरातू डैम से बरामद होने के बाद से लगातार पुलिस के वरीय अधिकारियों का दौरा पतरातू हो रहा है। मामले की जांच व समीक्षा करने के लिए डीडीपी व आइजी भी रामगढ़ आए। हजारीबाग के डीआइजी भी जांच में जुटे हैं। रामगढ़ व हजारीबाग जिले के पुलिस की 17 अलग-अलग टीम रामगढ़, हजारीबाग, रांची व गोड्डा जाकर घटना की गुत्थी सुलझाने में लगी है।

पुलिस की टीम पतरातू डैम के आसपास से लेकर रांची से लेकर पतरातू डैम के आसपास के प्रमुख होटलों व  चौक-चौराहों के सीसीटीवी फुटेज को भी खंगाल चुकी है। लेकिन नजीता अबतक शून्य रहा है। घटना के दिन दोपहर से लेकर देर रात तक किसी भी सीसीटीवी फुटेज में छात्रा नहीं दिखी। पतरातू डैम के पानी में जिस स्थान पर छात्रा का शव मिला है, उसके पास के एक होटल में लगे सीसीटीवी कैमरे में केवल एक वैन के दो-तीन बार आने-जाने के फुटेज मिले हैं।

लेकिन उक्त वैन के बारे में रामगढ़ पुलिस को अभी तक कोई सुराग नहीं मिला है। गोताखोरों की मदद से पुलिस इस मामले की सुराग जुटाने में लगी रही। शव मिलने वाले स्थान को पानी से लेकर जमीन तक खंगाल लिया गया, पर पुलिस मामले में निरुत्तर है।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप