चतरा, जासं। जिले में मनरेगा के तहत होने वाली बहाली की प्रक्रिया निरस्त कर दी गई है। मनरेगा आयुक्त राजेश्वरी बी. के निर्देश पर बहाली की प्रक्रिया को निरस्त किया गया है। उन्होंने 30 नवंबर को इस आशय का आदेश जारी किया है। जिले में मनरेगा के तहत कुल रिक्त 41 विभिन्न पदों पर बहाली होनी है। इनमें तकनीकी सहायक, कंप्यूटर ऑपरेटर सह लेखापाल और रोजगार सेवक के पद शामिल हैं।

इन पदों पर नियुक्ति के लिए लगभग दो महीना पूर्व विज्ञापन निकाला गया था। इसके आलोक में करीब 42 सौ अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था। उपायुक्त अंजली यादव के आदेश पर अभ्यर्थियों के आवेदनों की जांच प्रक्रिया पूरी करने के बाद 27 नवंबर तक दावा और आपत्ति मांगी गई थी। अधिकारियों ने बताया कि दावा और आपत्ति की प्रक्रिया भी पूरी हो गई थी। बहाली को लेकर सूची तैयार की जा रही थी। लेकिन इसी बीच मनरेगा आयुक्त ने बहाली प्रक्रिया को निरस्त करने का आदेश दे दिया।

मनरेगा आयुक्त ने अपने पत्र में कार्मिक, प्रशासनिक सुधार एवं राजभाषा विभाग के पत्रांक 7880 दिनांक 9.11.2021 का हवाला देते हुए संविदा आधारित बहाली में संशोधन के प्रस्ताव का हवाला दिया है। उप विकास आयुक्त सुनील कुमार सिंह ने बताया कि मनरेगा आयुक्त के आदेश पर संविदा पर होने वाली विभिन्न पदों की बहाली की प्रक्रिया को तत्काल प्रभाव से रोक दिया गया है। डीडीसी ने कहा कि जब तक अगला आदेश नहीं आता, तब तक बहाली की प्रक्रिया को नए सिरे से दोबारा शुरू नहीं की जाएगी।

Edited By: Kanchan Singh