रांची, राज्य ब्यूरो। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने झारखंड की धरती से ही दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना का तोहफा देश की जनता को दिया था। अब देश भर के किसानों को सामाजिक सुरक्षा कवच का तोहफा देने के लिए भी प्रधानमंत्री ने झारखंड को ही चुना है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, किसान मानधन योजना को गुरुवार को लांच करेंगे। योजना के दायरे में वे किसान आएंगे जिनकी उम्र 18 से 40 वर्ष है। झारखंड में इस योजना के तहत 1.09 लाख किसानों का रजिस्ट्रेशन का कार्य पूरा हो चुका है।

किसानों को सामाजिक सुरक्षा कवच उपलब्ध कराने और वृद्धावस्था में उन्हें आजीविका के साधन मुहैया कराने के लिए सुनिश्चित मासिक पेंशन के रूप में प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना लागू की जा रही है। योजना के तहत किसानों को उनकी उम्र के आधार पर 55 से 200 रुपये प्रति माह के बीच पेंशन निधि में अंशदान जमा करना अनिवार्य होगा। 18 से 40 वर्ष के उम्र के किसानों का ही रजिस्ट्रेशन हो सकेगा। किसानों को 60 साल की उम्र पूरी होने के बाद 3000 रुपये मासिक पेंशन मिलेगी।

60 वर्ष की आयु पूरी होने से पहले अगर किसान की मृत्यु होती है तो आश्रित पति या पत्नी को पारिवारिक पेंशन के रूप में 50 प्रतिशत यानी 1500 रुपये की मासिक पेंशन मिलेगी। इस योजना के तहत झारखंड में किसानों के रजिस्ट्रेशन का कार्य योजना की शुभारंभ होने के बाद भी किया जाता रहेगा। इसके लिए पंचायत स्तर पर कैंप भी लगाए जा रहे हैं। उपायुक्तों को निर्देश दिया गया है कि किसानों की डेटा इंट्री का काम जिलास्तर पर न करके इसे पंचायत के स्तर पर किया जाए।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस