बचरा, पिपरवार (चतरा), जासं। केंद्रीय कोयला मंत्री प्रह्लाद जोशी ने कहा है कि कोयले के संकट पर किसी को पैनिक होने की जरूरत नहीं है। देश में कोयले की कमी नहीं होने दी जाएगी। कोयला संकट पर कोयला मंत्री ने देश को आश्वस्त करते हुए कहा कि किसी भी थर्मल पावर स्टेशन में कोयले की कमी नहीं होने दी जाएगी। देश के विद्युत संयंत्रों में कोयले का पर्याप्त स्टॉक नहीं होने से उत्‍पन्‍न बिजली संकट को देखते हुए वे गुरुवार को झारखंड दौरे पर थे।

वह विशेष विमान से छत्तीसगढ़ से रांची पहुंचे। फिर एयरपोर्ट से ही पि‍परवार स्थित ओपन कास्ट माइंस अशोक परियोजना का निरीक्षण करने पहुंचे। हेलीकॉप्टर पिपरवार कायाकल्प वाटिका के हलीपैड में उतारा गया। मंत्री को सिमरिया विधायक किशुन दास और उपायुक्त ने बुके देकर स्वागत किया। इसके बाद सड़क मार्ग से अशोका माइंस का निरीक्षण किया। साथ ही उन्होंने बचरा साइडिंग का भी निरीक्षण किया।

पत्रकारों से बात करते हुए जोशी ने कहा कि 22 प्रतिशत कोयले का आयात बंद होने और ज्यादा बारिश के कारण देश में उत्पादन प्रभावित हुआ है। लेकिन कल से ही दो मिलियन टन कोयले का उत्पादन होने लगा है। कोयला मंत्री ने कहा कि मुझे बयानबाजी में कोई इंटरेस्ट नहीं है। थर्मल पावर के लिए जो चाहिए, उसके लिए हम सब मिलकर पूरा प्रयास कर रहे हैं। मैं भरोसा दिलाना चाहूंगा कि किसी भी पावर प्लांट में कोयले की सप्लाई प्रभावित नहीं होगी। इसके लिए पैनिक होने की जरूरत नहीं है।

मौके पर सिमरिया विधायक किशुन दास, सीसीएल सीएमडी पीएम प्रसाद, चतरा उपायुक्त अंजली यादव, एसपी राकेशरंजन, एसडीओ सुधीर कुमार, पिपरवार जीएम सीबी सहाय, अशोका परियोजना पदाधिकारी अविनाश कुमार, टंडवा बीडीओ रंथु महतो, टंडवा एसडीपीओ शंभु सिंह, टंडवा थाना इंस्पेक्टर विजय सिंह, पिपरवार थाना प्रभारी गोविंद कुमार, एरिया सिक्योरिटी अरुण महतो सहित सीसीएल के कई अधिकारी मौजूद थे।

Edited By: Sujeet Kumar Suman