हजारीबाग (संवाद सहयोगी)। पीएम केयर्स नाम की फर्जी वेबसाइट बनाकर 52 लाख रूपये की ठगी करने के मामले में हजारीबाग साइबर सेल को बड़ी सफलता हाथ लगी है। साइबर सेल ने पीएम केयर्स नामक फर्जी वेबसाइट निर्माता इंजीनियर मुजफ्फरपुर बिहार निवासी रोशन कुमार पिता रवि शंकर शाह को गिरफ्तार किया है। रोशन के निशानदेही पर ही नवादा के नूरसराय  निवासी रोहित राज पिता नगीना चौधरी को भी पकड़ा गया है । साइबर सेल ने रोशन कुमार के पास से वेबसाइट निर्माण में उपयोग किए गए दो लैपटॉप के अलावा 8 एटीएम,  चेक बुक, बैंक पासबुक सहित पांच मोबाइल भी बरामद किए  हैं ।

प्रेस वार्ता में यह जानकारी एसपी कार्तिक एस ने दी । बताया कि साइबर सेल के थाना प्रभारी इंस्पेक्टर नीरज कुमार सिंह के नेतृत्व में पीएम केयर्स ठगी मामले में दो अन्य अभियुक्त को पकड़ा गया है। एसपी ने बताया कि  9 अप्रैल 2020 को हजारीबाग में पंजाब नेशनल बैंक और यूनियन बैंक के द्वारा सदर थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी ।  प्राथमिकी में फर्जी तौर पर पीएम केयर्स फंड वेबसाइट का निर्माण कर दोनों बैंकों के बचत खाता नंबर को लिंक कर  ठगी की जाने की शिकायत की गई थी । ठगी की यह रकम करीब 52 लाख थी। दर्ज प्राथमिकी के आलोक में जांच के दौरान 11 अप्रैल को हजारीबाग के दो अभियुक्त नूर हसन तथा मोहम्मद इफ्तेखार पिता सिराजुद्दीन को पकड़ा गया था।

जांच के एक माह बाद पोता हजारीबाग निवासी विकास कुमार शर्मा पिता शंकर ठाकुर  और बबलू हेंब्रम  को  पकड़ा गया था । जांच के क्रम में कई और लोगों के नाम सामने आए हैं। जिसकी जांच साइबर सेल कर रही है। छापेमारी दल में पीएसआई विक्रम कुमार , अभिषेक कुमार सिंह ,विक्रम कुमार ,जवान शशि रंजन जायसवाल  के अलावा तकनीकी शाखा के लोग शामिल थे।  वहीं प्रेस वार्ता में एसपी के अलावा प्रशिक्षु आईपीएस निधि बंसल , एसडीपीओ सदर कमल किशोर,  इंस्पेक्टर सह थाना प्रभारी सदर गणेश कुमार सिंह सहित अन्य उपस्थित थे ।

रोशन एमटेक और एसएससी की परीक्षा पास कर चुका है रोहित राज

पीएम केयर्स ठगी  मामले में बिहार के मुजफ्फरपुर और नवादा से   गिरफ्तार रोशन  कुमार एमटेक की पढ़ाई  पंजाब यूनिवर्सिटी से पूरी कर चुका है। वही नवादा के नूरसराय से गिरफ्तार रोहित राज फिजिक्स से स्नातक है और उसने 2019 में एसएससी की परीक्षा पास की है । ज्ञात हो कि हजारीबाग में पीएम केयर्स ठगी मामले में दो प्राथमिकी दर्ज की गई थी। प्राथमिकी के बाद जांच में बड़े पैमाने पर ठगी का मामला सामने आया था।  यह भी मामला सामने आया कि सरगना परमेश्वर साव  इंजीनियर की मदद से  पीएम केयर्स सहित करीब 25 फर्जी वेबसाइट के माध्यम से ठगी कर रहा था। इसकी पड़ताल साइबर सेल के द्वारा की जा रही है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस