रांची, जागरण संवाददाता। गर्मी की छुट्टियों में विभिन्न राज्य के लोग रांची आते हैं। ऊंचाई पर बसे होने के कारण रांची का मौसम लोगों को खूब भाता है। इसके साथ ही तालाबों, डैम और झरनों से घिरा यह शहर लोगों को मनोरंजन के भी पर्याप्त साधन देता है। यही वजह है कि इस बार भी गर्मी में लोग पतरातू, धुर्वा डैम, गेतलसूद डैम, और यहां के अन्य झरनों का रुख कर रहे हैं।

हालांकि कुछ झरनों में पानी नहीं के बराबर रह गया है, लेकिन घूमने के उद्देश्य से वहां जाना गलत नहीं होगा। दशम फॉल, हुंडरू फॉल, जोन्हा फॉल, तमाशीन फॉल, चुरीन फॉल, कांति फॉल आदि वाटर स्टेशन आपका मन मोहने के लिए तैयार हैं। इसके अलावा रांची के चारों ओर बने डैम भी आपके मनोरंजन में सहायक होंगे। दोपहर के बाद पतरातू जाना लोगों में सबसे ज्यादा पंसद किया जाता है।

शाम होते ही डैम में बोटिंग का लुत्फ उठा सकते हैं। इस समय धूप नहीं होती है। हल्की लाल रोशनी में सूरज दिन के अपने अंतिम रूप में होता है। पानी पर सूरज की किरणों की चमक को लोग अपने कैमरे में कैद करते हैं। कुछ सेल्फी और ढेर सारी यादों के साथ समर डे समाप्त होता है। अगले दिन फिर कहीं और का प्लान बनता है।

धुर्वा डैम में बोटिंग की सुविधा नहीं है, लेकिन शाम में डैम के किनारे ठंडी हवा के बीच बैठना सुकून देता है। कांके डैम भी सनसेट के लिए बेहद खास माना जाता है। कांके डैम को पार्क के रूप में विकसित किया गया है। फूल-पौधों के बीच डैम के किनारे बैठकर मन को शांति मिलती है। कांके डैम तस्वीरें लेने के ख्याल से सबसे बेहतर जगह है।

रिसॉर्ट में बीत रहा रांची के लोगों का दिन

इधर वाटर लवर्स स्वीमिंग पूल का भी रुख कर रहे हैं। रांची के होटलों में और आस-पास के रिसॉर्ट में लोग पानी के बीच छुट्टियां मनाने जा रहे हैं। बच्चों के साथ पैरेंट्स भी उनकी मस्ती में बराबर भाग लेते हैं। करीब के रिसॉर्ट में जाने के लिए पूरा दिन लगता है। सुबह जाने के बाद वे कुछ देर पूल में मस्ती करते हैं और दोपहर का लंच वहीं करते हैं। इसकी पूरी व्यवस्था रिसोर्ट ही करता है। शाम होने से पहले लोग लोट आते हैं। रांची के कॉलेज स्टूडेंट्स और बाकी युवा रिसोर्ट जाना खूब पसंद कर रहे हैं।

संस्थानों में हो रहा है फन डे का आयोजन

शहर के बीच छोटे बच्चों के लिए समर कैंप के तहत फन डे का आयोजन हो रहा है। कई संस्थाओं और प्ले स्कूल द्वारा इस प्रकार के आयोजन में अभिभावकों को भी बुलाया जा रहा है। यहां बच्चों के लिए रैंप वॉक, वाटर बॉल गेम के साथ अन्य एक्टिविटी होती है। अभिभावक भी बच्चों के बीच खूब मस्ती करते हैं। यह कैंप 15 से 30 दिनों के लिए लगता है। गर्मी की छुट्टी शुरू होते ही इन कैंपों का आयोजन शुरू हो जाता है। इनमें भाग लेने के लिए बच्चों का रजिस्ट्रेशन होता है।

पार्कों में भी है वाटर स्टेशन की व्यवस्था

रांची के कई पार्कों में भी पानी के छोटे तालाबों की व्यवस्था है। मोरहाबादी के ऑक्सीजन पार्क में 50 फीट लंबा-चौड़ा तालाब है। पार्क में लोग तालाब के पानी में पैर डाल कर बैठते हैं। इनमें ज्यादातर युवा होते हैं। रांची विवि और डीएसपीएमयू के विद्यार्थी क्लास खत्म कर अक्सर यहां आते हैं। गर्मी के मौसम में हल्की धूप के बीच तालाब में पैर डाल कर बैठना लोगों को खास एहसास कराता है। पार्क के बीच तालाब बच्चों और बुजुर्गों के लिए मुख्य आकर्षण है।

रेस्त्रां भी दे रहे हैं पूल फेसिलिटी

रांची में ऐसे भी रेस्त्रां हैं जो आपको पूल की सुविधा देते हैं। बेशक इसमें आप नहाने का आनंद नहीं उठा सकते, लेकिन सातवें तल्ले पर शाम में ठंडी हवाओं के बीच घुटने भर पानी में पैर रखना आपको किसी रिसॉर्ट की याद दिलाएगा। शहर के नए रेस्त्रां इस तरह के प्रयोग कर रहे हैं।

निवारणपुर में मेकनिक्स ऐसा ही एक रेस्त्रां है। अन्य कई रेस्त्रां में भी वाटर बॉल में पैर रखने जैसी व्यवस्था है। इनमें भी ठंडे पानी में पैर रखने की ख्वाहिश पूरी हो सकती है। रांची में युवाओं के बीच इसका बेहद क्रेज है।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Sujeet Kumar Suman

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस