रांची, जासं । कोरोना संक्रमण के कारण इस वर्ष भी देवघर में सावन का मेला नहीं लग रहा है। देवघर में बाबा के प्रसाद के रूप में बिकने वाले पेड़े का स्वाद लोगों को बहुत याद आ रहा है। अगर ऐसा है तो आप भी अपने पास के प्रधानडाक घर पहुंचकर बाबा का प्रसाद आर्डर कर सकते हैं। दरअसल, घर-घर चिट्ठी पहुंचाने वाले पोस्टमैन अब लोगों तक बाबा का प्रसाद भी पहुंचाएंगे। ये व्यवस्था डाक विभाग ने की है। इस नायाब प्रयोग में देवघर के डाक विभाग की मुख्य भूमिका है। इससे पेड़ा बेचने वाले व्यापारियों को भी थोड़ी राहत मिलेगी।

द्वादश ज्योतिर्लिंग में से एक बाबा बैद्यनाथ मंदिर है। यहां आना वाला शायद ही कोई भक्त बाबा का प्रसाद के रूप में पेड़ा न लेकर जाए। मगर कोरोना काल है। इस कारण भक्त देवघर नहीं आ सकते। ऐसे में भक्तों के तक बाबा का प्रसाद पहुंचाने का जिम्मा डाक विभाग ने उठाया है। यहां के पेड़े इतने प्रसिद्ध हैं कि हाल में देवघर प्रशासन के द्वारा उन्हें जीआई मार्क (जियोग्राफिकल इंडेक्स मार्क) दिलाने की पहल भी शुरू की गयी है। डाक विभाग से पेड़ा आडर करने पर आपको पेड़ा के साथ बाबा के प्रसाद का पूरा किट दिया जाएगा। भोलेनाथ को बेल पत्र बेहद प्रिय है। इसलिए प्रसाद के पैकेट में बाबा का बेल पत्र भी मौजूद रहेगा। प्रसाद में पेड़ा, इलायची दाना, सिंदूर, भभूत, के साथ बाबा बैद्यनाथ के शिवलिंग की तस्वीर भी भेजी जाएगी।

डाक विभाग के अधिकारी बताते हैं कि डाक विभाग के पोस्ट शापी सेंटर से देश के किसी भी कोने में प्रसाद मंगाया जा सकता है। घर बैठे दुनियां के किसी भी कोने में स्पीड पोस्ट से प्रसाद का आर्डर ग्राहक कर सकते हैं। इसके लिए डाकपाल बी. देवघर के पदनाम पर ई मनीआर्डर भेजना होगा। पांच सौ एक रुपये में पांच सौ ग्राम और दो सौ इक्यावन रुपये के मनी आर्डर में दो सौ ग्राम प्रसाद का पैकेट आपके घर तक पहुंच जाएगा। भारतीय डाक विभाग एवं मेसर्स पंचमुखी कंपनी के संयुक्त प्रयास से यह योजना शुरू की गई है।

Edited By: Vikram Giri