जागरण संवाददाता, रांची : मंगलवार को रिम्स में इलाजरत एक टेंपो चालक को सोमवार को जब डॉक्टर ने जांच के बाद बताया कि उसे टीबी है तो इलाज और खर्च की चिंता में वह अचानक छत से कूद गया। इस घटना के बाद अस्पताल परिसर में अफरातफरी मच गई। इस घटना के बाद आनन-फानन में गार्ड की सहायता से मरीज को इमरजेंसी वार्ड में भर्ती कराया गया है। मरीज का नाम गीतेश प्रसाद है। परिजनों ने बताया कि वे चिरौंदी मोराबादी के रहने वाले हैं। क्या है मामला

मरीज की पत्नी अंजू देवी ने बताया कि लगातार बुखार रहने की समस्या के बाद रविवार को अपने पति गीतेश प्रसाद को इलाज के लिए रिम्स लेकर आई थी। एक दिन बाद सोमवार को उसे अस्पताल में भर्ती किया गया। इसी दौरान डॉक्टर ने जब चेक-अप किया तो टीबी होने के संकेत दिए। बीमारी का पता चलने बाद वे परेशान हो गए थे। वह कह रहे थे कि इलाज से अच्छा मर जाना है। मंगलवार को करीब शाम के सात बजे मरीज अपने वार्ड से बाथरूम जाने की बात कह कर निकला और बाहर आकर पहले तल्ले से कूद गया। मौके पर मरीज के साथ मरीज की पत्नी, उनकी बेटी और दामाद मौजूद थे। घटना के बाद सभी सन्न थे।

------------------

'शाम में एक मरीज फ‌र्स्ट फ्लोर के बाथरूम से छलांग लगा लिया। फिलहाल मरीज जीवित और बेहोशी की अवस्था में है। उसका उपचार इमरजेंसी वार्ड में चल रहा है। इसे लेकर बरियातू थाने में सूचना दे दी गई है।'

डॉ. संजय कुमार

उपाधीक्षक, रिम्स

Posted By: Jagran