आत्मरक्षा के लिए चिकित्सकों ने मनाया विरोध दिवस : डा. अजय

चिकित्सकों योग गुरु स्वामी रामदेव के खिलाफ कार्रवाई की मांग की

फोटो : 18 डालपी 01

कैप्शन : मेदिनीनगर स्थित मेदिनी राय मेडिकल कालेज अस्पताल में काला बिल्ला लगाकर ड्यूटी करते दाएं से डा अवधेश सिंह व डा आशीष तिर्की।

संवाद सहयोगी, मेदिनीनगर (पलामू) : जिले भर के चिकित्सकों ने शुक्रवार को काला बिल्ला लगाकर विरोध दिवस मनाया। इसमें आइएमए और झासा के बैनरतले सरकारी व गैर-सरकारी चिकित्सक शामिल हुए। झासा के जुड़े चिकित्सकों ने काला बिल्ला लगाकर सरकारी अस्पतालों में सेवाएं दी और गैर-सरकारी चिकित्सकों ने आइएमए के बैनरतले निजी क्लिनिकों में मरीजों का उपचार किया।

आइएमए के प्रदेश उपाध्यक्ष डा अजय सिंह ने बताया कि केंद्रीय नेतृत्व के आह्वान पर शुक्रवार को विरोध दिवस के रूप में मनाया गया। आत्मरक्षा के लिए विरोध दिवस मना रहे हैं। इसके तहत चिकित्सकों ने काला बिल्ला लगाकर सेवाएं दी। कहा कि चिकित्सकों को विभिन्न प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। कई बार बिना गलती के भी चिकित्सक खामियाजा भुगतते हैँ। अगर सरकारी या गैर-सरकारी अस्पताल में चिकित्सक से जुड़ा कोई मामला आए तो उसके लिए न्यायालय है। ताकि न्याय भी मिल सके। बेवजह चिकित्सकों को परेशान नहीं किया जाना चाहिए। कहा कि बाबा रामदेव का आपत्तिजनक बयान से भी परेशानी हुई है। सेव द सेवियर्स हमारा विषय है। इसमें सरकार से आग्रह कर रहे हैं कि चिकित्सकों के खिलाफ हिसा में लिप्त लोगों को दंडित किया जाए। इलाज व मुआवजे के लिए अधिक सुविधाओं के अलावा ज्वलंत मुद्दों पर जनता का ध्यान आकर्षित करने के लिए कानून को मजबूती के साथ लागू किया जाए। एमआरएमसीएच में काला बिल्ला लगाकर झासा के डा अवधेश सिंह व डा आशीष तिर्की सेवा दे रहे हैं। डा. गौरव विशाल ने कहा कि सरकार को चिकित्सकों के हित की रक्षा करनी चाहिए।

Edited By: Jagran