रांची, [जागरण स्पेशल]। झारखंड में इंटर की परीक्षा मजाक बनकर रह गई है। यहां छात्र खुलेआम नकल करते देखे जा सकते हैं। इंटर की भौतिकी की परीक्षा में शनिवार को धड़ल्ले से कदाचार कर कॉपियां लिखी गईं। टेंट में परीक्षा दे रहे छात्र बारिश आने के बाद और मजे में आ गए, जब एक बेंच पर ही 5 से 6 छात्रों को ठूंस-ठूंसकर बिठा दिया गया। हद तो तब हो गई जब कुछ छात्राएं नीचे जमीन पर बैठकर गोद में लेकर उत्तरपुस्तिका पर जवाब लिखने लगीं। यहां नकल की खुली छूट के कारण परीक्षार्थियों की मौज रही।

टेंट में चल रही थी परीक्षा, बारिश से मची अफरातफरी

पलामू जिला के पांकी प्रखंड मुख्यालय स्थित प्रोजेक्ट हरिवंश नारायण बालिका उच्च विद्यालय परीक्षा केंद्र में शनिवार को अलग ही नजारा देखने को मिला। कमरे के अभाव में टेंट में ही इंटर भौतिकी विज्ञान की परीक्षा चल रही थी कि अचानक बारिश होने लगी। लिहाजा परीक्षार्थी विद्यालय की ओर भागने लगे। जगह की कमी के कारण एक-एक बेंच पर पांच-पांच विद्यार्थियों को बैठना पड़ा। मामले की जानकारी मिलने पर पांकी बीडीओ फुलेश्वर मुर्मू भी स्वयं स्कूल पहुंचे। इस बीच उन्होंने नकल करते हुए लगभग एक दर्जन से अधिक परीक्षार्थियों को पकड़ा। बाद में चेतावनी देकर छोड़ दिया। 

पलामू जिले के सुदूरवर्ती क्षेत्रों में मैट्रिक-इंटर परीक्षा की तैयारी को लेकर की गई व्यवस्था पर सवाल पहले भी उठते रहा है। दैनिक जागरण ने भी टेंट में परीक्षा लेने और पर्याप्‍त रोशनी के बिना अंधेरे कमरे में बिठाकर परीक्षा की कॉपी लिखने की विवशता की खबर छापकर कुव्यवस्था की पोल खोली थी, लेकिन शासन-प्रशासन ने खबर छपने के बाद स्थल निरीक्षण कर सिर्फ खानापूर्ति कर दी। टेंट वाली परीक्षा की व्यवस्था चलती रही।

शनिवार को भी कमरे के अभाव में टेंट में ही इंटर भौतिक विज्ञान की परीक्षा चल रही थी कि अचानक बारिश होने लगी। फिर क्या विद्यार्थियों में अफरातफरी मच गई। यहां छोटे से कमरे में करीब 300 छात्रों को ढूंस दिया गया। एक-एक बेंच पर 5 परीक्षार्थी बैठे। अव्‍यवस्‍था के आलम में नियम-कायदे ताक पर रखकर इस परीक्षा में कदाचार की खुली छूट दी गई।

बारिश आने पर परीक्षा के बीच में ही टेंट से विद्यार्थी विद्यालय की ओर भागने लगे। एक कमरे में सभी विद्यार्थियों को ठूंस दिया गया। एक बेंच पर पांच-पांच विद्यार्थियों को बैठा दिया गया। फिर भी विद्यार्थी नहीं अटे तो उन्हें जमीन पर बैठकर परीक्षा लिखने को कहा गया। यह व्यवस्था ने जैक की ओर से मैट्रिक-इंटर परीक्षा की तैयारियों की पोल खोल कर रख दी है।

यहां बात हो रही है पलामू जिला के पांकी प्रखंड मुख्यालय स्थित प्रोजेक्ट हरिवंश नारायण बालिका उच्च विद्यालय परीक्षा केंद्र में शनिवार को संचालित दूसरी पाली में इंटर भौतिक विज्ञान की टेंट में संचालित परीक्षा की।

विद्यालय भवन में कमरों के अभाव की वजह से बाहर टेंट लगा कर परीक्षा संचालित की जा रही थी। अचानक बारिश की वजह से परीक्षार्थियों के प्रश्नपत्र व उत्तर पुस्तिका भींगने लगी। इसे देख आनन फानन में परीक्षार्थी विद्यालय के कमरों की ओर भागे। लगभग 10-15 मिनट की बारिश के दौरान बाहर व अंदर कमरे में परीक्षा लिख रहे परीक्षर्थियों को परेशानी झेलनी पड़ी। 

मामले की सूचना मिलते ही पांकी बीडीओ फुलेश्वर मुर्मू ने प्रोजेक्ट हरिवंश नारायण बालिका उवि परीक्षा केंद्र में जाकर स्वयं स्थिति को नियंत्रित किया। कमरे में एक-एक बेंच पर पांच-पांच परीक्षर्थियों को बैठाकर परीक्षा ली गई। ऐसे में खुलेआम कदाचार होता देख बीडीओ ने स्वयं ही सीसीटीवी फुटेज वीडीयो से निगरानी शुरू कर दी। बारी बारी से लगभग एक दर्जन से अधिक परीक्षर्थियों को कदाचार करते पकड़ा गया।  बाद में चेतावनी देकर छोड़ दिया गया।

जमीन पर बैठा दिया गया परीक्षार्थियों को

प्रोजेक्ट हरिवंश नारायण बालिका उवि परीक्षा केंद्र में क्षमता से अधिक संख्या हो जाने से  लगभग एक दर्जन परीक्षर्थियों को जमीन पर बैठकर परीक्षा ली गई। हालांकि इस दौरान जैक अध्यक्ष भी परीक्षा केंद्र का निरीक्षण करने पहुंचे। वह बिना किसी से कुछ पूछे व बोले तस्वीर लेकर वापस लौट गए। रितु कुमारी, प्रिया कुमारी, तब्बसुम प्रवीण, रिया कुमारी, प्रियंका कुमारी सहित परीक्षार्थियों ने कहा कि बाहर लगे पंडाल में बैठकर परीक्षा दे रहे थे। अचानक बारिश होने लगी। कमरे में जगह और बेंच के अभाव में नीचे जमीन पर बैठकर परीक्षा लिखने की विवशता रही।

कमरों के अभाव में पंडाल में परीक्षा ली जा रही थी। अचानक बारिश शुरू हो गई। विद्यालय में कमरों का अभाव है। क्षमता से अधिक 1039 परीक्षार्थियों की परीक्षा संचालन शिक्षा विभाग की जवाबदेही है। शैलेश कुमार सिंह, केंद्राधीक्षक सह प्राचार्य, प्रोजेक्ट हरिवंश नारायण बालिका उवि, पांकी,पलामू।

परीक्षा केंद्र में पंडाल लगाकर परीक्षा ली जा रही थी। इसी बीच अचानक बारिश शुरू  हो गई। अफरा-तफरी मच गई। उन्हें स्वयं सीसीटीवी से निगरानी करनी पड़ी। कदाचार कर रहे परीक्षर्थियों को चेतावनी देकर छोड़ा गया है। फुलेश्वर मुर्मू, बीडीओ, पांकी।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस