रांची, जासं। राजधानी रांची में सोमवार को शहर के बीचों-बीच लालपुर में दिनदहाड़े अपराधियों का उत्पात देखने को मिला। लालपुर चौक के पास अमरावती कांप्लेक्स में स्थित जेवर दुकान 'गहना घर' में लूट के इरादे से घुसे अपराधियों ने दुकान के संचालक दो सगे भाइयों को गोली मार कर घायल कर दिया। दोनों का रिम्स में इलाज चल रहा है। घायलों में रोहित खिरवाल (39) के पेट में गोली लगी है, जबकि राहुल खिरवाल (35) के पेट और जांघ में दो गोलियां लगी हैं।

डॉक्टरों के अनुसार दोनों की स्थिति खतरे से बाहर है। गहना घर के संचालक खिरवाल का परिवार अमरावती कांप्लेक्स के पीछे स्थित पीस रोड में ही रहता है। बताया जाता है कि सोमवार को दोपहर करीब दो बजे दुकान पर रोहित, राहुल और उनके पिता बनवारी लाल बैठे थे। इस बीच एक-एक कर पांच अपराधी दुकान में आ धमके। सभी के हाथ में पिस्टल थी। अपराधियों ने पिस्टल तानकर सभी से मोबाइल मांगा और किनारे जाने के लिए कहा।

रोहित ने इसका विरोध किया तो अपराधियों ने रोहित के पेट में गोली मार दी। यह देख रोहित का भाई राहुल अपराधियों की ओर दौड़ा तो अपराधियों ने उसपर दो गोलियां चला दीं। इसके बाद अपराधी हथियार लहराते हुए कांप्लेक्स के बाहर खड़ी बाइक तक पहुंचे और हथियार लहराते हुए पीस रोड से कोकर के रास्ते भाग निकले। घटना के तुरत बाद मौके पर पीसीआर-7 वैन की पुलिस पहुंची और दोनों घायलों को रिम्स पहुंचाया।

सीसीटीवी कैमरे में कैद हुए अपराधी, बाइक पर लगाया था फर्जी नंबर

घटना के बाद भागने के दौरान अपराधी सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए हैं। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार अपराधी दो मोटरसाइकिलों से आए थे। पुलिस जांच में पता चला है कि दोनों पर फर्जी नंबर लगाए गए थे। सीसीटीवी में अपराधी फायरिंग के बाद हथियार लहराकर दुकान से बाहर निकलकर बाइक से भागते दिख रहे हैं। सफेद रंग की अपाची में तीन अपराधी सवार होकर भागे।

चालक और पीछे बैठे युवक ने काले रंग की मास्क लगा रखी थी। वहीं बीच में बैठे अपराधी ने हेलमेट पहन रखा था। दूसरी बाइक काले रंग की अपाची में दोनों अपराधियों ने चेहरे पर रूमाल बांध रखा था। गोलियों की आवाज सुनकर आसपास व ऊपर के दुकानदार दौड़ पड़े, लेकिन जब तक लोग कुछ समझ पाते अपराधी हथियार लहराते हुए भाग चुके थे।

एफएसएल की टीम पहुंची, लिया फिंगर प्रिंट सैंपल

मामले की जांच के लिए एसएसपी अनीश गुप्ता ने एसआइटी का गठन किया है। इसमें सिटी डीएसपी, सदर डीएसपी, कोतवाली डीएसपी सहित अन्य थानेदारों को शामिल किया गया है। अपराधी दुकान पर ही दो हेलमेट छोड़ गए हैं, जिसे पुलिस ने जब्त कर लिया है। घटना के बाद वहां एफएसएल की टीम पहुंची थी। एक्सपर्ट ने फिंगर प्रिंट सैंपल भी इकट्ठा किया।

'अपराधियों की पहचान की कोशिश की जा रही है। अपराधियों के भागने वाले रूट पर छापेमारी की जा रही है। मामले के खुलासे और अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए एसआइटी का गठन किया गया है।' -अनीश गुप्ता, एसएसपी रांची।

Posted By: Alok Shahi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस