जागरण संवाददाता, रांची : जिला प्रशासन ने लोकसभा चुनाव को देखते हुए सभी लाइसेंसी हथियार जमा करने का निर्देश संबंधित लोगों को दिया था। इसके लिए तीन मार्च अंतिम तिथि निर्धारित की गई थी। परंतु शनिवार तक एक भी लोगों ने हथियार जमा नहीं कराया। अब 10 मार्च तक अंतिम मौका दिया गया है। जिला प्रशासन ने कहा कि हथियार जमा नहीं करने वालों का लाइसेंस रद किए जाएंगे। इस अवधि तक सभी को अपने हथियार संबंधित थाना, ओपी या शस्त्र व कारतूस विक्रेता दुकानों में जमा करने को कहा गया है।

उपायुक्त के आदेश में कहा गया है कि पहले सभी लाइसेंसधारियों को तीन मार्च तक हथियार जमा करने का निर्देश दिया गया था। लेकिन सभी लोगों ने हथियार जमा नहीं किए हैं। अब इसकी तिथि बढ़ाकर दस मार्च कर दी गई है। हथियार सिर्फ थाना और ओपी में ही जमा करने को कहा गया था, पर इससे थानों को कुछ परेशानी हो गई थी। वहां हथियार रखने की व्यवस्था नहीं थी। इसकी जानकारी मिलने पर जिला शस्त्र दंडाधिकारी ने शस्त्र विक्रेता के दुकानों में भी हथियार जमा करने की छूट दी थी। दुकानों में हथियार जमा करने के बाद पावती को थाना में जमा करना होगा। उपायुक्त के अनुसार अब हथियार जमा करने के लिए तिथि नहीं बढ़ायी जाएगी। आज मतदान केंद्रों का सत्यापन करेंगे मजिस्ट्रेट

लोकसभा चुनाव के पूर्व मतदान केंद्रों का भौतिक सत्यापन होना है। इसे लेकर सेक्टर मजिस्ट्रेट रविवार को मतदान केंद्रों का निरीक्षण करेंगे। मतदान केंद्रों में मजिस्ट्रेट पेयजल, बिजली, महिला और पुरुष के अलग-अलग शौचालय, रैंप और फर्नीचर की उपलब्धता की जाच कर रिपोर्ट तैयार करने का निर्देश दिया गया है। मतदान केंद्रों पर मतदाता सूची में नाम जोड़ने और संशोधन के कार्य की वह मॉनिटरिंग करेंगे। मतदान केंद्रों पर बीएलओ के अनुपस्थित रहने की रिपोर्ट भी वह तैयार करेंगे। शनिवार को कई बूथों पर बीएलओ नदारद दिखे। इसे लेकर मतदाताओं को काफी परेशानी हुई। साथ ही मतदान केंद्रों पर मौजूद सुविधाओं की जानकारी एकत्र कर उपायुक्त को रिपोर्ट सौंपेंगे।

सभी मजिस्ट्रेट को फोन से तस्वीर को खींचकर भेजनी है। इसके अलावा निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी, सहायक निर्वाचक निबंधन पदाधिकारी, सभी जिला स्तरीय पदाधिकारी अंचल पदाधिकारियों को जिले के कम से कम 10 मतदान केंद्रों का भ्रमण करने का निर्देश दिया गया है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस