जागरण संवाददाता,राची : बरियातू रोड स्थित आरोग्य भवन में हर वर्ष की भाति इस बार भी पद्मश्री से सम्मानित विकास भारती के सचिव अशोक भगत विधि-विधान पूर्वक चैती नवरात्र अनुष्ठान कर रहे हैं। यहां कलश की स्थापना की गई है। वे 9 दिनों तक व्रत में रहकर शक्ति की उपासना में जुटे हुए हैं।

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सुबह शाम माता की पूजा हो रही है। पूजा के दौरान भी सोशल डिस्टेंस का पालन किया जा रहा है। इसमें किसी प्रकार की कोताही नहीं बरती जा रही है।

अशोक भगत जहा प्रतिदिन सुबह से शाम तक सैकड़ों कार्यकर्ता से मिलते थे। अब उन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए खुद को लोगों से दूर कर लिया है। अब वे फोन से ही कार्यकर्ताओं के संपर्क में रहते हैं।

------

परिवार के सदस्यों के साथ हो रही वंदना

जागरण संवाददाता, रांची :

बिरसा इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, सिंदरी (धनबाद) के रसायन शास्त्र विभाग के प्रोफेसर सह विभागाध्यक्ष डॉ. रणजीत कुमार सिंह के घर पर नवरात्र को ले कलश स्थापना की गई है। इनका परिवार रांची के कचहरी में रहता है। इस पूजा के दौरान हवन-यज्ञ भी होता है,ताकि वातावरण शुद्ध बना रहे। इस कार्य में पूरा परिवार हिस्सा ले रहा। दोनों समय घर में पूजा-अर्चना चल रही। इस बार की पूजा कुछ खास है। इसमें मानव मात्र के कल्याण की कामना की जा रही है। चुटिया राम मंदिर में हुआ चंडी पाठ

जागरण संवाददाता, रांची : चुटिया श्री राम मंदिर में चैती नवरात्र के दूसरे दिन गुरुवार को भी श्री सत सत चंडी का पाठ हुआ। इससे पूर्व मा दुर्गा के दूसरे रूप ब्रह्मचारिणी की विधि विधान से पूजा हुई। खास बात यह है मंदिर में इस बार बचाव के पूरे इंतजाम किए गए सतर्कता के बीच की पूजा पाठ होता है। पाठ करने वाले पुरोहित भी पर्याप्त दूरी बनाकर करके ही पाठ करते है।

पूजा समिति के संयोजक विजय कुमार साहू ने बताया कि प्रत्येक वर्ष नवरात्र पूजा धूमधाम से मनाया जाता रहा है लेकिन इस बार कोरोना वायरस के प्रसार को देखते हुए सिर्फ चार पंडित ही पाठ कर रहे हैं। पाच यजमान ही पूजा पर बैठे। उन्होंने आम लोगों से अपने अपने घरों में ही माता की पूजा की अपील की है

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस