रांची, राज्य ब्यूरो। राज्य से अवैध नशीले पदार्थों की तस्करी को रोकने के लिए नार्को को-आर्डिनेशन सेंटर (एनकार्ड) का गठन किया जा रहा है। मुख्य सचिव डॉ. डीके तिवारी की अध्यक्षता में यह सेंटर कार्य करेगा, जिसके सदस्यों में गृह सचिव व डीजीपी भी होंगे। केंद्रीय गृह मंत्रालय के आदेश पर राज्य में नार्को को-आर्डिनेशन सेंटर के पुन: संरचना का प्लान तैयार किया गया है। नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अधीन ही एनकॉर्ड का गठन किया गया था। इसके बाद ही सभी राज्यों में नार्को को-आर्डिनेशन सेंटर बनाने की कवायद तेज हुई।

ये हैं चुनौतियां

  • राज्य से अफीम की तस्करी को रोकना।
  • आपसी समन्वय से राज्य की सीमा से हेरोइन की तस्करी को रोकना।
  • अफीम की खेती को रोकने के लिए ठोस कदम उठाना।
  • राज्य से मादक द्रव्यों का गलत तरीके से उत्पादन व ट्रांसपोर्टिंग को रोकना।

एनकार्ड का यह होगा दायित्व

  • देश में मादक द्रव्य तस्करी की स्थिति की मॉनीटङ्क्षरग करना और इस तस्करी के खिलाफ राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य में नीति बनाना।
  • इससे संबंधित मुद्दे पर मंथन कार्यक्रम में शामिल होना, सुझाव देना, ताकि राष्ट्रहित में बड़ा फैसला लिया जा सके।
  • इस मुद्दे पर केंद्र व राज्य सरकार के बीच समन्वय में मदद करना।
  • यह कमेटी एक साल में दो बार मिलेगी, ताकि मादक द्रव्यों की तस्करी रोकने में आ रही अड़चनें, कानून के पालन में हो रही दिक्कतों का निष्पादन हो सके। एक ठोस नीति बन सके।

Posted By: Sujeet Kumar Suman

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप