बेड़ो : सरकारी गाइडलाइन के हिसाब से बेड़ो में सादगी के साथ दुर्गा पूजा की जा रही है। मंदिरों और पंडालों में बैरिकेडिंग की गई है और यहां से षष्ठी के दिन पूजा हुई। दुर्गापूजा महासमिति के सदस्य व मंदिर के पंडित शारीरिक दूरी बनाकर मास्क पहनकर दुर्गा्रपूजा कर रहे हैं। इस वर्ष प्रत्येक वर्ष की भाति दुर्गा मंदिर के परिसर में श्रद्धालुओं की भीड़ देखने को नहीं मिल रही है। मंदिर परिसर में आए हुए भक्तजन शारीरिक दूरी बनाकर मा भगवती की भक्ति में लीन हैं। पूजा में गाइडलाइन के बावजूद भक्तजनों का मा भगवती के प्रति आस्था कम नहीं हुई है। श्रद्धालु अपने घरों में ही रहकर बड़ी उत्साह से नवरात्रि का पर्व मना रहे हैं। इस वर्ष दुर्गापूजा में मंदिर का नजारा ही अलग हैं। इधर, बेड़ो में वैदिक मंत्रो के बीच बांग्ला पद्धति से बेलवरण पूजा कर दर्शनार्थियों के लिए पट खोल दिए गए और मा दुर्गा के दर्शन के लिए श्रद्धालु पहुंचे। यहा दुर्गाबाड़ी में पुजारी सुबल चंद देवघरिया, अशोक पंडा की अगुवाई में यजमान मनोरंजन देवघरिया और गौतम देवघरिया ने बेल वृक्ष के नीचे देवी का आमंत्रण पूजा पंचोपचार विधि से किया। साथ ही मा भगवती पूजा कर उनको आमंत्रण एवं अधिवास के साथ मा के छठे रूप मा कात्यायनी की पूजा के साथ ही षष्ठी पूजा संपन्न की गई।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021